Chaar Dino Ka Jeena Re Bande

Krishna Mantra Jaap (श्री कृष्ण मंत्र जाप)

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय हरे राम – हरे कृष्ण श्री कृष्ण शरणम ममः
हरे कृष्ण हरे कृष्ण – कृष्ण कृष्ण हरे हरे – हरे राम हरे राम – राम राम हरे हरे
Krishna Bhajan
_

चार दिनों का जीना रे बन्दे


चार दिनों का जीना रे बन्दे,
गया वक्त नहीं आयेगा।

सुमिरण कर ले तू प्रभु का,
भव सागर तर जायेगा॥

चार दिनों का जीना रे बन्दे,
गया वक्त नहीं आयेगा।
सुमिरण कर ले तू प्रभु का,
भव सागर तर जायेगा॥

ये तन है माटी का नश्वर,
माटी में मिल जायेगा,

मुट्ठी बांधे आया था तू,
हाथ पसारे जायेगा।

धन दौलत से भरा खजाना,
यहीं पड़ा रह जायेगा॥

चार दिनों का जीना रे बन्दे,
गया वक्त नहीं आयेगा।
सुमिरण कर ले तू प्रभु का,
भव सागर तर जायेगा॥

भाई बन्धु कुटुम्ब कबीला,
कोई न साथ निभायेगा।

मोह माया के जाल में फंसकर,
अन्त काल पछतायेगा।

जैसा कर्म किया है तुमने,
वैसा ही फल पायेगा॥

चार दिनों का जीना रे बन्दे,
गया वक्त नहीं आयेगा।
सुमिरण कर ले तू प्रभु का,
भव सागर तर जायेगा॥

भौतिक सुख और झूठे रिश्ते,
पल में सब मिट जायेगा।

सुख में सुमिरण जो तू करेगा,
दुख काहै को आयेगा।

चिन्तन कर ले इन बातों का
जन्म सफल हो जायेगा॥

चार दिनों का जीना रे बन्दे,
गया वक्त नहीं आयेगा।
सुमिरण कर ले तू प्रभु का,
भव सागर तर जायेगा॥

मानव जन्म हैं पाया तुने,
बार-बार नहीं पायेगा।

तेरा मेरा छोड़ दे इक दिन,
हंसा तो उड़ जायेगा।

रह जायेगी धन दौलत यही,
पाप पुण्य संग जायेगा,

चार दिनों का जीना रे बन्दे,
गया वक्त नहीं आयेगा।
सुमिरण कर ले तू प्रभु का,
भव सागर तर जायेगा॥

Chaar Dino Ka Jeena Re Bande
Chaar Dino Ka Jeena Re Bande

चार दिनों का जीना रे बन्दे,
गया वक्त नहीं आयेगा।
सुमिरण कर ले तू प्रभु का,
भव सागर तर जायेगा॥

_

Bhajan and Prayers

_
_

Chaar Dino Ka Jeena Re Bande


Chaar dino ka jeena re bande,
gaya waqt nahi aayega.
Sumiran kar le tu prabhu ka,
bhav saagar tar jaayega.

Chaar dino ka jeena re bande,
gaya waqt nahi aayega.
Sumiran kar le tu prabhu ka,
bhav saagar tar jaayega.

Ye tan hai maati ka nashvar,
maati mein mil jaayega.

Mutthi baandhe aaya tha tu,
haath pasaare jaayega.

Dhan daulat se bhara khajaana,
yahin pada rah jaayega.

Chaar dino ka jeena re bande,
gaya waqt nahi aayega.
Sumiran kar le tu prabhu ka,
bhav saagar tar jaayega.

Bhai bandhu kutumb kabila,
koi na saath nibhaayega.

Moh maaya ke jaal mein phansakar,
ant kaal pachhataayega.

Jaisa karm kiya hai tumne,
vaisaa hi phal paayega.

Chaar dino ka jeena re bande,
gaya waqt nahi aayega.
Sumiran kar le tu prabhu ka,
bhav saagar tar jaayega.

Bhautik sukh aur jhoothe rishtey,
pal mein sab mit jaayega,

Sukh mein sumiran jo tu karega,
dukh kaahe ko aayega.

Chintan kar le in baaton ka
janm saphal ho jaayega.

Chaar dino ka jeena re bande,
gaya waqt nahi aayega.
Sumiran kar le tu prabhu ka,
bhav saagar tar jaayega.

Maanav janm hain paaya tumane,
baar-baar nahin paayega.

Tera mera chhod de ik din,
hansa to ud jaayega.

Rah jaayegi dhan daulat yahi,
paap punya sang jaayega,

Chaar dino ka jeena re bande,
gaya waqt nahi aayega.
Sumiran kar le tu prabhu ka,
bhav saagar tar jaayega.

Chaar Dino Ka Jeena Re Bande
Chaar Dino Ka Jeena Re Bande

Chaar dino ka jeena re bande,
gaya waqt nahi aayega.
Sumiran kar le tu prabhu ka,
bhav saagar tar jaayega.

_

Bhajan and Prayers

_