Shankar Teri Jatao Se, Behti Hai Gang Dhaara

Shiv Mantra Jaap (शिव मंत्र जाप)

ॐ नमः शिवाय ॐ नमः शिवाय   ॐ नमः शिवाय ॐ नमः शिवाय
ॐ नमः शिवाय ॐ नमः शिवाय   ॐ नमः शिवाय ॐ नमः शिवाय
Shiv Bhajan
_

शंकर तेरी जटाओं से, बहती है गंगधारा


शंकर तेरी जटाओं से,
बहती है गंगधारा।
है जोगी अगम अपारा।
है जोगी अगम अपारा॥


है तन में भस्म रमाए,
मस्तक पर चन्द्र सुहाए।
उठे ध्वनि शब्द ओंकारा,
है जोगी अगम अपारा॥

शंकर तेरी जटाओं से,
बहती है गंगधारा।


तुम नील कंठ कहलाये,
तेरे अंग भुजंग सुहाए।
कर में त्रिशूल उजियारा,
है जोगी अगम अपारा॥

शंकर तेरी जटाओं से,
बहती है गंगधारा।


बाघम्बर आसन पाए,
गौरी वामांग सुहाए।
डमरू ध्वनि होत अपारा,
है जोगी अगम अपारा॥

शंकर तेरी जटाओं से,
बहती है गंगधारा।


सुर महि-सुर नर मुनि राइ,
सब तेरे ध्यान लगाए।
विश्वम्भर अगम अपरा,
है जोगी अगम अपारा॥

शंकर तेरी जटाओं से,
बहती है गंगधारा।


ॐ नमः शिवाय
ॐ नमः शिवाय

शंकर तेरी जटाओं से,
बहती है गंगधारा।
है जोगी अगम अपारा।
है जोगी अगम अपारा॥

Shankar Teri Jatao Se
Shankar Teri Jatao Se

शंकर तेरी जटाओं से,
बहती है गंगधारा।

_

Shiv Bhajans

_
_

Shankar Teri Jatao Se

Shri Mridul Krishna Shastri

_

Shankar Teri Jatao Se Behti Hai Gang Dhaara


Shankar teri jatao se,
behti hai gang dhara.
Hai jogi agam apaara.
Hai jogi agam apaara.

Hai tan mein bhasm ramaaye,
mastak par chandra suhaye.
Uthe dhwani shabd omkara,
Hai jogi agam apaara.

Shankar teri jataon se,
behti hai gang dhara.

Tum neel kanth kehlaaye,
tere ang bhujang suhaye.
Kar mein trishool ujiyaara,
Hai jogi agam apaara.

Shankar teri jatao se,
behti hai gang dhara.

Baghambar aasan paaye,
gauri vaamaang suhaaye.
Damaroo dhvani hot apaara,
Hai jogi agam apaara.

Shankar teri jataon se,
behti hai gang dhara.

Sur mahi-sur nar muni rai,
sab tere dhyaan lagaaye.
Vishwambhar agam apara,
Hai jogi agam apaara.

Shankar teri jatao se,
behti hai gang dhara.

Om namah shivaay
om namah shivaay

Shankar Teri Jatao Se Behti Hai Gang Dhaara
Shankar Teri Jatao Se Behti Hai Gang Dhaara

Shankar teri jatao se,
behti hai gang dhara.

_

Shiv Bhajans

_