Maati Ke Putle Tujhe Kitna Guman Hai


माटी के पुतले तुझे कितना गुमान है


माटी के पुतले तुझे कितना गुमान है,
तेरी औकात क्या, तेरी क्या शान है॥

माटी के पुतले तुझे कितना गुमान है॥


चार दिन की है ये जिंदगानी तेरी,
रहने वाली नहीं नौजवानी तेरी,
खाक हो जाएगी हर निशानी तेरी,
खत्म हो जाएगी ये कहानी तेरी,
चार दिन का तेरा मान सम्मान है,
माटी के पुतले तुझे कितना गुमान है॥


राज हस्ती का अब तक ना समझा कोई,
है पराया यहाँ पर ना अपना कोई,
हश्र तक जीने वाला ना देखा कोई,
मौत से आजतक बच ना पाया कोई,
कुछ समझता नही कैसा इंसान है,
माटी के पुतले तुझे कितना गुमान है॥


ये जो दुनिया नजर आ रही है हसी,
चाट जाये ना इमां को तेरे कही,
गोद में तुझको लेलेगी एक दिन जमीं,
तुझको ये बात मालूम है के नही,
अपने ही घर में तू एक मेहमान है,
माटी के पुतले तुझे कितना गुमान है॥


अपनी करनी की नादाँ सजा पायेगा,
वक्त है और ना पास वर्ना पछतायेगा,
मौत के वक्त कुछ भी ना काम आएगा,
ये खजाना यही तेरा रह जायेगा,
माल दौलत का बेकार अरमान है,
माटी के पुतले तुझे कितना गुमान है॥


महकदे खाक है खाक हो जायेगा,
तू अँधेरे में एक रोज खो जायेगा,
अपनी हस्ती को गम में डुबो जायेगा,
कब्र की गोद में जाके सो जायेगा,
तू मगर सारी बातो से अनजान है,
माटी के पुतले तुझे कितना गुमान है॥


ग़म के मझधार में एक किनारा बने,
या जबीने वफ़ा का सितारा बने,
सबका अच्छा बने, सबका प्यारा बने,
आदमी आदमी का सहारा बने,
बस यही आदमियत की पहचान है,
माटी के पुतले तुझे कितना गुमान है॥


चार दिन की कहानी है ये जिंदगी,
मौत की नौकरानी है ये जिंदगी,
मय्यते जिंदगानी है ये जिंदगी,
देख नादान फानी है ये जिंदगी,
जिंदगी के लिए क्यों परेशान है,
माटी के पुतले तुझे कितना गुमान है॥


कोई चंगेज खा और ना हिटलर रहा,
कोई मुफ़लिस ना कोई तवंगर रहा,
कोई बदतर रहा और ना बेहतर रहा,
कोई दारा ना कोई सिकंदर रहा,
जीते जी सब तेरी आन है शान है,
माटी के पुतले तुझे कितना गुमान है॥


ये कुटुंब ये कबीले ना काम आएंगे,
ये तेरे बेटा बेटी ना काम आएंगे,
जो भी है तेरे अपने ना काम आएंगे,
ये महल और दुमहले ना काम आएंगे,
मोह माया में तेरी फंसी जान है,
माटी के पुतले तुझे कितना गुमान है॥


इस जमी को कुचलके जो चलता है तू,
इस तरह से उछलके जो चलता है तू,
यार मेरे मचलके जो चलता है तू,
यूँ ततबूर में ढलके जो चलता है तू,
मौत को भूल बैठा है, नादान है,
माटी के पुतले तुझे कितना गुमान है॥


झूठी अजमत पे इतना अकड़ता है क्यों,
माल ओ दौलत पे इतना अकड़ता है क्यों,
अच्छी हालत पे इतना अकड़ता है क्यों,
अपनी ताकत पे इतना अकड़ता है क्यों,
बुलबुले से भी नाजुक तेरी जान है,
माटी के पूतले तुझे कितना गुमान है॥


तेरा सबकुछ है बस जिंदगी के लिए,
ये जो है जिंदगी की अदा छोड़ दे,
क्यों ना केसर बुरा तुझको दुनिया कहे,
एक पल की खबर भी नही है तुझे,
सौ बरस का मगर घर में सामान है,
माटी के पूतले तुझे कितना गुमान है॥


माटी के पुतले तुझे कितना गुमान है,
तेरी औकात क्या, तेरी क्या शान है,
माटी के पुतले तुझे कितना गुमान है॥

Bhajan and Prayers

Maati Ke Putle Tujhe Kitna Guman Hai

Asad Irfan Sabri

Maati Ke Putle Tujhe Kitna Guman Hai


Maati ke putle tujhe kitna guman hai,
teri aukaat kya, teri kya shaan hai.

Maati ke putle tujhe kitna guman hai.

Chaar din ki hai ye jindagaani teri,
rahane wali nahin naujavaani teri,
khaak ho jaayegi har nishaani teri,
khatm ho jaayegi ye kahaani teri,
chaar din ka tera maan sammaan hai,
maati ke putle tujhe kitna guman hai.

Raaj hasti ka ab tak na samajha koi,
hai paraaya yahaan par na apana koi,
hashra tak jine vaala na dekha koi,
maut se aaj tak bach na paaya koi,
kuchh samajhata nahi kaisa insaan hai,
maati ke putle tujhe kitna guman hai.

Ye jo duniya najar aa rahi hai hasi,
chaat jaaye na imaan ko tere kahi,
god mein tujh ko lelegi ek din jamin,
tujh ko ye baat maaloom hai ke nahi,
apane hi ghar mein too ek mehamaan hai,
maati ke putle tujhe kitna guman hai.

Apani karani ki naadaan saja paayega,
vakt hai aur na paas varna pachhataayega,
maut ke vakt kuchh bhi na kaam aaega,
ye khajaana yahi tera rah jaayega,
maal daulat ka bekaar aramaan hai,
maati ke putle tujhe kitna guman hai.

Mahakade khaak hai khaak ho jaayega,
too andhere mein ek roj kho jaayega,
apani hasti ko gam mein dubo jaayega,
kabr ki god mein jaake so jaayega,
too magar saari baato se anajaan hai,
maati ke putle tujhe kitna guman hai.

Gam ke majhadhaar mein ek kinaara bane,
ya jabine vafa ka sitaara bane,
sab ka achchha bane, sab ka pyaara bane,
aadami aadami ka sahaara bane,
bas yahi aadamiyat ki pahachaan hai,
maati ke putle tujhe kitna guman hai.

Chaar din ki kahaani hai ye jindagi,
maut ki naukaraani hai ye jindagi,
mayyate jindagaani hai ye jindagi,
dekh naadaan phaani hai ye jindagi,
jindagi ke liye kyon pareshaan hai,
maati ke putle tujhe kitna guman hai.

Koi changej kha aur na hitlar raha,
koi mufalis na koi tavangar raha,
koi badtar raha aur na behtar raha,
koi daara na koi sikandar raha,
jite jee sab teri aan hai shaan hai,
maati ke putle tujhe kitna guman hai.

Ye kutumb ye kabile na kaam aayenge,
ye tere beta beti na kaam aayenge,
jo bhi hai tere apane na kaam aayenge,
ye mahal aur dumahale na kaam aayenge,
moh maaya mein teri phansi jaan hai,
maati ke putle tujhe kitna guman hai.

Is jami ko kuchalake jo chalata hai too,
is tarah se uchhalake jo chalata hai too,
yaar mere machalake jo chalata hai too,
yoon tataboor mein dhalake jo chalata hai too,
maut ko bhool baitha hai, naadaan hai,
maati ke putle tujhe kitna guman hai.

Jhoothi ajamat pe itanaa akadata hai kyon,
maal o daulat pe itana akadata hai kyon,
achchhi haalat pe itana akadata hai kyon,
apani taakat pe itana akadata hai kyon,
bulabule se bhi naajuk teri jaan hai,
maati ke pootale tujhe kitana gumaan hai.

Tera sabakuchh hai bas jindagi ke lie,
ye jo hai jindagi ki ada chhod de,
kyon na kesar bura tujh ko duniya kahe,
ek pal ki khabar bhi nahi hai tujhe,
sau baras ka magar ghar mein saamaan hai,
maati ke pootale tujhe kitana gumaan hai.

Maati ke putle tujhe kitna guman hai,
teri aukaat kya, teri kya shaan hai,
maati ke putle tujhe kitna guman hai.

Bhajan and Prayers

Asharan Sharan Shanti Ke Dham – Lyrics in Hindi


अशरण शरण शांति के धाम

अशरण शरण शांति के धाम,
एक सहारा तेरा नाम॥
अशरण शरण शांति के धाम,
एक सहारा तेरा नाम॥


विश्वविधाता भव-भय-त्राता
जन मन रंजन मंगलदाता
असुर-निकंदन तेरो नाम।
एक सहारा तेरा नाम॥
अशरण शरण शांति के धाम,
एक सहारा तेरा नाम॥


ब्रह्मा विष्णु तू ही महेश्वर
सच्चिदानंद तू विघ्नेश्वर
तू ही है बुद्धि का धाम।
एक सहारा तेरा नाम॥

अशरण शरण शांति के धाम,
एक सहारा तेरा नाम॥


तू ही भक्ति तू ही शक्ति।
दुर्गा भवानी माँ कल्याणी।
करती पूर्ण सबके काम।
एक सहारा तेरा नाम॥

अशरण शरण शांति के धाम,
एक सहारा तेरा नाम


भक्ति देना शक्ति देना।
अपने दर की सेवा देना।
जपता रहूँ बस तेरा नाम।
एक सहारा तेरा नाम॥

अशरण शरण शांति के धाम,
एक सहारा तेरा नाम


अशरण शरण शांति के धाम,
एक सहारा तेरा नाम


Asharan Sharan Shanti Ke Dham

Sudhanshu Ji Maharaj


Prayer Songs – Prayers



Asharan Sharan Shanti Ke Dham – Lyrics in English


Asharan Sharan Shanti Ke Dham

Asharan sharan, shanti ke dhaam,
ek sahaara tera naam.
Asharan sharan, shaanti ke dhaam
ek sahaara tera naam.


Vishva-vidhaata, bhav-bhay-traata,
jan man ranjan, mangal-daata,
asur-nikandan tero naam,
ek sahaara tera naam.
Asharan sharan, shanti ke dhaam,
ek sahaara tera naam.


Brahma Vishnu, too hi Maheshwar,
Sachchidanand, too Vighneshwar,
too hi hai buddhi ka dhaam,
ek sahaara tera naam

Asharan sharan, shanti ke dhaam,
ek sahaara tera naam.


Too hi bhakti, too hi shakti,
Durga Bhavaani, Maa Kalyaani,
karati poorna sabke kaam,
ek sahaara tera naam.

Asharan sharan shanti ke dhaam,
ek sahaara tera naam.

Bhakti dena, shakti dena,
apne dar ki seva dena,
japataa rahoon bas tera naam,
ek sahaara tera naam

Asharan sharan shaanti ke dhaam,
ek sahaara tera naam.


Asharan Sharan Shanti Ke Dham

Sudhanshu Ji Maharaj


Prayer Songs – Prayers



Aye Tere Dwar, Namaskar Namskar – Lyrics in Hindi


आये तेरे द्वार, नमस्कार नमस्कार

आये तेरे द्वार, नमस्कार नमस्कार
सब जग की आधार, नमस्कार नमस्कार

मंगलमयी माँ, हम आये तेरे द्वार
आये तेरे द्वार, नमस्कार नमस्कार


सूरज और चाँद में तेरा ही उजाला है
तूने पहन रखी है सितारों की माला है
सब जग की आधार, नमस्कार नमस्कार
आये तेरे द्वार….


पर्वतों की चोटियों को बादल है चूमते
पृथ्वी सूर्य चाँद सितारे गा रहे है झूमते
नियम के अनुसार, नमस्कार नमस्कार
आये तेरे द्वार….


कोयल की ये कूहू कूहू सब के मन को भा रही
शीतल मंद पवन तेरा गीत मधुर गा रही
जपत रही सौ बार, नमस्कार नमस्कार
आये तेरे द्वार….


मानुष तन को देखो कितना सुंदर बनाया है
मन बुद्धि और इन्द्रियों को किसने सजाया है
अष्ट चक्र नौ द्वार, नमस्कार नमस्कार
आये तेरे द्वार….


आये तेरे द्वार, नमस्कार नमस्कार
सब जग की आधार, नमस्कार नमस्कार


Aye Tere Dwar, Namaskar Namskar

Sudhanshu Maharaj


Prayer Songs – Prayers



Aye Tere Dwar, Namaskar Namskar – Lyrics in English


Aye Tere Dwar, Namaskar Namskar

Aaye tere dwar, namaskaar namaskaar
Sab jag kee aadhaar, namaskaar namaskaar
Mangalamayee maa, ham aaye tere dwaar
Aaye tere dwar, namaskaar namaskaar

Sooraj aur chaand mein tera hee ujaala hai
Toone pahan rakhee hai sitaaron kee maala
Hai sab jag kee aadhaar, namaskaar namaskaar
Aaye tere dwar….

Parvaton kee chotiyon ko baadal hai choomate
Prithvi surya chaand sitaare ga rahe hai jhoomate
Niyam ke anusaar, namaskaar namaskaar
Aaye tere dwar….

Koyal kee ye koohoo koohoo sab ke man ko bha rahee
Sheetal mand pavan tera geet madhur ga rahee
Japat rahee sau baar, namaskaar namaskaar
Aaye tere dwar….

Maanush tan ko dekho kitana sundar banaaya hai
Man buddhi aur indriyon ko kisane sajaaya hai
Asht chakr nau dwar, namaskaar namaskaar
Aaye tere dwar….

Aaye tere dwar, namaskaar namaskaar
Sab jag kee aadhaar, namaskaar namaskaar


Aye Tere Dwar, Namaskar Namskar

Sudhanshu Maharaj


Prayer Songs – Prayers



Teri Kripa Hi Mera Sab Kuch


Krishna Bhajan

तेरी कृपा ही मेरा सब कुछ


तेरी कृपा ही मेरा सब कुछ,
ओ मेरे सतगुरू प्‍यारे।

तेरी कृपा ही मेरा सब कुछ,
ओ मेरे सतगुरू प्‍यारे।

मुझे नहीं चाहिए अब कुछ,
ओ मेरे सतगुरू प्‍यारे॥


गैरो की बात करे क्‍या,
हमें अपनो ने ठुकराया।

बन गया नाथ तू मेरा,
तूने पल पल साथ निभाया।

तेरा साथ ही मेरा सब कुछ,
ओ मेरे सतगुरू प्‍यारे॥

तेरी कृपा ही मेरा सब कुछ,
ओ मेरे सतगुरू प्‍यारे।
मुझे नहीं चाहिए अब कुछ,
ओ मेरे सतगुरू प्‍यारे॥


मैया बनकर के तूने,
मुझे गोद मे ले दुलराया।

बन गया पिता तू मेरा,
तूने चलना मुझे सिखाया।

तेरा प्‍यार ही मेरा सब कुछ,
ओ मेरे सतगुरू प्‍यारे॥

तेरी कृपा ही मेरा सब कुछ,
ओ मेरे सतगुरू प्‍यारे।
मुझे नहीं चाहिए अब कुछ,
ओ मेरे सतगुरू प्‍यारे॥


मै किसी से कुछ क्‍या मांगू,
बिन मांगे ही सब पाऊँ।

जब द्वार मिला बाबा तेरा,
मै किसी के दर क्‍यू जाऊँ।

तेरा द्वार ही मेरा सब कुछ,
ओ मेरे सतगरू प्‍यारे॥

तेरी कृपा ही मेरा सब कुछ,
ओ मेरे सतगुरू प्‍यारे।
मुझे नहीं चाहिए अब कुछ,
ओ मेरे सतगुरू प्‍यारे॥


इतनी किरपा की तूने,
ये मुख से कहा ना जाये।

जब जब मै याद करू तो,
मेरा हृदय भर भर आये।

ये दास कहे अब क्‍या कुछ,
ओ मेरे सतगुरू प्‍यारे॥

तेरी कृपा ही मेरा सब कुछ,
ओ मेरे सतगुरू प्‍यारे।
मुझे नहीं चाहिए अब कुछ,
ओ मेरे सतगुरू प्‍यारे॥


तेरी कृपा ही मेरा सब कुछ,
ओ मेरे सतगुरू प्‍यारे।
मुझे नहीं चाहिए अब कुछ,
ओ मेरे सतगुरू प्‍यारे॥

Teri Kripa Hi Mera Sab Kuch
Teri Kripa Hi Mera Sab Kuch

मुझे नहीं चाहिए अब कुछ,
ओ मेरे सतगुरू प्‍यारे।
तेरी कृपा ही मेरा सब कुछ,
ओ मेरे सतगुरू प्‍यारे॥

Satguru Bhajans

Teri Kripa Hi Mera Sab Kuch

Sadhvi Purnima Ji (Poonam Didi)

Teri Kripa Hi Mera Sab Kuch


Teri kripa hi mera sab kuch,
O mere Satguru pyare

Teri kripa hi mera sab kuch,
O mere Satguru pyare

Mujhe nahi chaahiye ab kuchh,
O mere Satguru pyare

Gairo ki baat kare kya,
hamein apano ne thukaraaya

Ban gaya naath tu mera,
toone pal pal saath nibhaaya

Tera saath hi mera sab kuchh,
O mere Satguru pyare

Teri kripa hi mera sab kuch,
O mere Satguru pyare
Mujhe nahi chaahiye ab kuchh,
O mere Satguru pyare

Maiya banakar ke toone,
mujhe god me le dularaaya

Ban gaya pita tu mera,
toone chalana mujhe sikhaaya

Tera pyaar hi mera sab kuchh,
O mere Satguru pyare

Teri kripa hi mera sab kuch,
O mere Satguru pyare
Mujhe nahi chaahiye ab kuchh,
o mere baaba pyaare

Mai kisi se kuchh kya maangu,
bin maange hi sab paau

Jab dwar mila baba tera,
mai kisi ke dar kyu jaoon

Tera dwaar hi mera sab kuchh,
O mere Satguru pyare

Teri kripa hi mera sab kuch,
O mere Satguru pyare
Mujhe nahi chaahiye ab kuchh,
O mere Satguru pyare

Itni kirapa ki toone,
ye mukh se kaha na jaaye

Jab jab mai yaad karoo to,
mera hrday bhar bhar aaye

Ye daas kahe ab kya kuchh,
O mere Satguru pyare

Teri kripa hi mera sab kuch,
O mere Satguru pyare
Mujhe nahi chaahiye ab kuchh,
O mere Satguru pyare

Teri kripa hi mera sab kuch,
O mere Satguru pyare

Mujhe nahi chaahiye ab kuchh,
O mere Satguru pyare

Mujhe nahi chaahiye ab kuchh,
O mere Satguru pyare

Teri kripa hi mera sab kuch,
O mere Satguru pyare

Teri Kripa Hi Mera Sab Kuch
Teri Kripa Hi Mera Sab Kuch

Krishna Bhajans

Daya Kar Daan Bhakti Ka – Lyrics in English


Daya Kar, Daan Bhakti Ka, Hame Parmatma Dena Lyrics

Daya kar, daan bhakti ka,
hame Parmatma dena
Daya karna, hamaari atmaa
ko shuddhata dena


Hamaare dhyan mein aao,
prabhu aankho mein bas jao
Andhere dil mein aakar ke,
param jyoti jaga dena
Daya kar, daan bhakti ka….


Baha do prem ki Ganga,
dilo mein prem ka saagar
Hame aapas mein miljul kar,
prabhu rahnaa sikha dena
Daya kar, daan bhakti ka….


Hamaara dharm ho seva,
hamaara karm ho seva
Sada imaan ho seva,
ho sevakchar bana dena
(Or saphal jeevan bana dena)
Daya kar, daan bhakti ka….


Watan ke vaaste jeena,
watan ke vaaste marna
Watan par ja fida karna,
prabhu hum ko sikha dena
Daya kar, daan bhakti ka….


Daya karnaa, hamaari aatma
ko shuddhata dena
Daya kar, daan bhakti ka,
hame Parmatma dena
Daya kar, daan bhakti ka, hame Parmatma dena


Daya Kar Daan Bhakti Ka


Prayer Songs



What Does Daya Kar Daan Bhakti Ka Prayer Song Teach Us?

Compassion, Generosity and Devotion

Daya Kar, Daan Bhakti Ka” is a popular prayer or devotional bhajan in Hindi that explains the virtues of compassion, generosity, and devotion.

The bhajan encourages individuals to practice acts of kindness, charity, and selfless devotion to the divine.

The origins of the bhajan and the specific composer may vary, as devotional songs are often passed down through generations and have multiple versions.

However, the bhajan is widely sung in religious gatherings, temples, and spiritual events.

How Should We Live a Life?

The lyrics of “Daya Kar, Daan Bhakti Ka” emphasize the importance of leading a virtuous life and performing selfless deeds.

It urges individuals to cultivate compassion towards others, to engage in acts of charity and service, and to offer sincere devotion to the divine.

Why Daya Kar Daan Bhakti Ka Prayer is a Powerful Prayer?

The bhajan inspires listeners to embrace qualities such as kindness, generosity, and devotion as a means to attain spiritual growth and enlightenment.

It serves as a reminder of the significance of selfless actions and the importance of nurturing a deep connection with the divine.

“Daya Kar, Daan Bhakti Ka” is beloved by devotees for its uplifting and inspiring message, and it continues to be sung and cherished as a means of expressing devotion and seeking divine blessings.


Kise too apana samajhata hai, kaun tera hai.
Jagat saraay hai, do din ka yahaa dera hai.

Jyon banake panchhi basera hain raatri bhar karate.
Tyon jag bhee tere liye rain ka basera hai.

Yah jindagee ki shama jalatee rahegi kab tak.
Lagega kaal ka jhonka bas phir andhera hai.

Moh ki madira ko pee aaj ho rahe gaaphil.
Sabhi ko kaal ne ik roj aan ghera hai.

Na saath laaya too kuchh, saath na kuchh jaane ka .
Yaheen rahega padha thaath jo dikhe yah sunahara hai.

Isaliye maan le ab tu, ishwar mein man laga le.
Seeva bhagavaan ki bhakti ke sab bakheda hai.


Prayer Songs



Daya Kar Daan Bhakti Ka – Lyrics in Hindi


दया कर दान भक्ति का, हमें परमात्मा देना

दया कर दान भक्ति का, हमें परमात्मा देना।
दया करना, हमारी आत्मा को शुद्धता देना॥


हमारे ध्यान में आओ, प्रभु आँखों में बस जाओ।
अंधेरे दिल में आकर के परम ज्योति जगा देना॥
दया कर, दान भक्ति का….


बहा दो प्रेम की गंगा, दिलो में प्रेम का सागर।
हमें आपस में मिलजुल कर, प्रभु रहना सिखा देना॥
दया कर, दान भक्ति का….


हमारा धर्मं हो सेवा, हमारा कर्म हो सेवा
सदा ईमान हो सेवा, हो सेवकचर बना देना।
(Or सफल जीवन बना देना)
दया कर, दान भक्ति का….


वतन के वास्ते जीना, वतन के वास्ते मरना।
वतन पर जा फ़िदा करना, प्रभु हमको सिखा देना॥
दया कर, दान भक्ति का….


दया करना, हमारी आत्मा को शुद्धता देना
दया कर, दान भक्ति का, हमें परमात्मा देना
दया कर, दान भक्ति का, हमें परमात्मा देना


Daya Kar Daan Bhakti Ka


Prayer Songs



दया कर दान भक्ति का प्रार्थना गीत हमें क्या सिखाता है?

दया, दान और भक्ति

दया कर दान भक्ति का” हिंदी में एक लोकप्रिय प्रार्थना और भक्ति भजन है, जो करुणा, उदारता और भक्ति के गुणों का महत्व हमें बताती है।

यह भजन व्यक्तियों को दया, दान और परमात्मा के प्रति निस्वार्थ भक्ति के कार्य करने के लिए प्रोत्साहित करता है।

भजन किसने लिखा और उसके संगीतकार की उत्पत्ति भिन्न हो सकती है, क्योंकि भक्ति गीत अक्सर पीढ़ियों से चले आते हैं और इसके कई संस्करण होते हैं।

हालाँकि, यह भजन व्यापक रूप से धार्मिक समारोहों, मंदिरों और आध्यात्मिक आयोजनों में गाया जाता है।

हमें जीवन कैसे जीना चाहिए?

“दया कर, दान भक्ति का” के बोल एक सदाचारी जीवन जीने और निस्वार्थ कर्म करने के महत्व पर जोर देते हैं।

यह व्यक्तियों से आग्रह करता है कि वे दूसरों के प्रति करुणा पैदा करें, दान और सेवा के कार्यों में संलग्न हों, और परमात्मा को सच्ची और निस्वार्थ भक्ति से याद करें।

भजन श्रोताओं को आध्यात्मिक विकास और ज्ञान प्राप्त करने के साधन के रूप में दया, उदारता और भक्ति जैसे गुणों को अपनाने के लिए प्रेरित करता है।

दया कर दान भक्ति का प्रार्थना एक पावरफुल प्रेयर क्यों है?

यह निःस्वार्थ कार्यों के महत्व और परमात्मा के साथ गहरे संबंध के महत्व की याद दिलाता है।

“दया कर, दान भक्ति का” भजन, अपने प्रेरक संदेश और अर्थपूर्ण शब्दों के कारण भक्तों में प्रिय है, और इसे भक्ति व्यक्त करने और दिव्य आशीर्वाद प्राप्त करने के साधन के रूप में गाया और पसंद किया जाता है।


किसे तू अपना समझता है, कौन तेरा है।
जगत सराय है, दो दिन का यहाँ डेरा है॥

ज्यों बनके पंछी बसेरा हैं रात्रि भर करते।
त्यों जग भी तेरे लिए रैन का बसेरा है॥

यह जिन्दगी कि शमा जलती रहेगी कब तक।
लगेगा काल का झोंका बस फिर अंधेरा है॥

मोहकी मदिरा को पी आज हो रहे गाफिल।
सभी को काल ने इक रोज आन घेरा है॥

न साथ लाया तू कुछ, साथ न कुछ जाने का ।
यहीं रहेगा पढ़ा ठाठ जो दिखे यह सुनहरा है॥

इसलिये मान ले अब तु, ईश्वर में मन लगा ले।
सिवा भगवान की भक्ति के सब बखेड़ा है॥


Prayer Songs



Vividh Bhajan List


Krishna Bhajan

विविध भजन


Ab Saup Diya Is Jeevan Ka Sab Bhar – Lyrics in Hindi


अब सौंप दिया इस जीवन का, सब भार तुम्हारे हाथों में

अब सौंप दिया इस जीवन का,
सब भार तुम्हारे हाथों में

है जीत तुम्हारे हाथों में,
और हार तुम्हारे हाथों में

अब सौंप दिया इस जीवन का,
सब भार तुम्हारे हाथों में
है जीत तुम्हारे हाथों में,
और हार तुम्हारे हाथों में

मेरा निश्चय बस एक यही,
एक बार तुम्हे मैं पा जाऊं

अर्पण कर दूँ दुनिया भर का,
सब प्यार तुम्हारे हाथों में

अब सौंप दिया इस जीवन का,
सब भार तुम्हारे हाथों में
है जीत तुम्हारे हाथों में,
और हार तुम्हारे हाथों में

जो जग में रहूँ, तो ऐसे रहूँ,
ज्यों जल में कमल का फूल रहे

मेरे गुण दोष समर्पित हों,
भगवान तुम्हारे हाथों में

अब सौंप दिया इस जीवन का,
सब भार तुम्हारे हाथों में
है जीत तुम्हारे हाथों में,
और हार तुम्हारे हाथों में

यदि मानुष का मुझे जनम मिले,
तव चरणों का मै पुजारी बनू

इस पूजक की एक एक रग का,
सब तार तुम्हारे हाथों में

अब सौंप दिया इस जीवन का,
सब भार तुम्हारे हाथों में
है जीत तुम्हारे हाथों में,
और हार तुम्हारे हाथों में

जब जब संसार का कैदी बनू,
निष्काम भाव से कर्म करूँ

फिर अंत समय में प्राण तजू,
निराकार तुम्हारे हाथों में

अब सौंप दिया इस जीवन का,
सब भार तुम्हारे हाथों में
है जीत तुम्हारे हाथों में,
और हार तुम्हारे हाथों में

मुझ में तुझ में बस भेद यही,
मैं नर हूँ, आप नारायण हो

मैं हूँ संसार के हाथों में,
संसार तुम्हारे हाथों में

अब सौंप दिया इस जीवन का,
सब भार तुम्हारे हाथों में
है जीत तुम्हारे हाथों में,
और हार तुम्हारे हाथों में

अब सौंप दिया इस जीवन का,
सब भार तुम्हारे हाथों में
है जीत तुम्हारे हाथों में,
और हार तुम्हारे हाथों में


Ab Saup Diya Is Jeevan Ka Sab Bhar

Shri Rameshbhai Ojha


Prayer Songs – Prayers



उपासना और भक्ति – ईश्वर प्राप्ति के सरल साधन

भक्तियोगकी सहायतासे मन अपने-आप ही शान्त हो जाता है। परमात्माके साक्षात्कारके द्वारा मायाका बन्धन छिन्न हो जाता है, मन शान्त हो जाता है और कर्मबन्धन शिथिल हो जाता है। अपनी शक्तिके अनुसार भक्ति करना सबके लिये सहज है।

सर्वदा भगवान्‌का चिन्तन, ध्यान, स्मरण और भगवान्‌में अनन्य विश्वास का नाम उपासना है।

अनवरत तैलधाराके समान मन की तरंगे जब भगवान्‌के नामस्मरण या ध्यानमें लग जाती है. तब परमात्मा प्रत्यक्षवत् हो जाते है, तथा जीवात्मा अपने पृथक् अस्तित्वको खो देता है, और परमात्माके साथ एक हो जाता है। इसीको उपासना कहते हें।

उपासनाकी सफलताके लिये भगवान्‌के प्रति असीम प्रेम होना आवश्यक है। हृदयके अनुरागके बिना केवल योग, जप, तप, ध्यान आदिके द्वारा भगवानकी प्राप्ति नहीं हो सकती। भगवान्‌के चरणोंमें अन्त:करणको लगा देनेका नाम ही योग है।

उपासनामें भगवत्प्रेमकी अत्यन्त आवश्यकता है। क्योंकि हम जिससे सर्वाधिक प्यार करते हैं, रात-दिन जिसका ध्यान-स्मरण हमको अच्छा लगता है, उसीमे हमको आनन्दकी अनुभूति होती है।

भगवान्‌के साथ यदि हम हृदयसे प्रेम करेंगे तो उनका ध्यान हमारे मनसे कभी नहीं छूटेगा। भगवान्‌के ध्यान और स्मरणमें हमको आनन्दकी प्राप्ति होगी।


Prayer Songs – Prayers