Hanuman Bhajan 1

हनुमान चालीसा - अर्थ सहित - जय हनुमान ज्ञान गुन सागर

जय हनुमान ज्ञान गुण सागर, जय कपीस तिहुं लोक उजागर॥1॥
जय हनुमान – श्री हनुमान जी! आपकी जय हो।
ज्ञान गुण सागर – आप ज्ञान और गुणों के अथाह सागर हो।

read more ....

सुंदरकाण्ड - सरल हिंदी में (1)

जामवंत के बचन सुहाए।
सुनि हनुमंत हृदय अति भाए॥
तब लगि मोहि परिखेहु तुम्ह भाई।
सहि दुख कंद मूल फल खाई॥
जाम्बवान के सुहावने वचन सुनकर हनुमानजी को अपने मन में वे वचन बहुत अच्छे लगे॥

read more ....

सुंदरकाण्ड - Sunderkand in Hindi - Index

हनुमानजी का सीता शोध के लिए लंका प्रस्थान
सिताजीने हनुमानको आशीर्वाद दिया
हनुमानजी ने श्रीराम को सीताजी का सन्देश दिया
भगवान् श्री राम की महिमा
समुद्र की श्री राम से विनती

read more ....