Shiv Bhajans 5

मन मेरा मंदिर, शिव मेरी पूजा

मन मेरा मंदिर, शिव मेरी पूजा,
शिव से बड़ा नहीं कोई दूजा।
मन मेरे शिव की महिमा के गुण गाए जा॥

शिव भक्ति में सब कुछ सुझा, शिव से बढ़कर नहीं कोई दूजा
तेरे भक्तो की शक्ति ने सारे जगत को जीत लिया है


  • Click on the three dots icon on audio bar and then click download to save the bhajan.
  • ऑडियो प्लेयर के तीन डॉट्स icon पर क्लिक करे, फिर डाउनलोड पर क्लिक करके भजन सेव करें।

Man Mera Mandir Shiv Meri Puja Lyrics

_

महादेव शंकर हैं जग से निराले

महादेव शंकर हैं जग से निराले।
बड़े सीधे साधे, बड़े भोले भाले॥

बनालो उन्हें, अपने जीवन की आशा।
सदा दूर तुमसे रहेगी निराशा॥
जो इस द्वार पे, अपना विश्वास कर ले।
तो पल भर में भर जायेगी झोली खाली॥


  • Click on the three dots icon on audio bar and then click download to save the bhajan.

Mahadev Shankar Hai Jag Se Nirale Lyrics

_

शिवजी सत्य है, शिवजी सुंदर

शिवजी सत्य है, शिवजी सुंदर, शिवजी शिवजी सबके अंदर॥
ओम नमः शिवाय ॐ, ओम नमः शिवाय ॐ, ओम नमः शिवाय ॐ, ॐ, ॐ ॐ…… ॥


  • Click on the three dots icon on audio bar and then click download to save the bhajan.
  • ऑडियो प्लेयर के तीन डॉट्स icon पर क्लिक करे, फिर डाउनलोड पर क्लिक करके भजन सेव करें।

Shivji Satya Hai Shivji Sundar Lyrics

_

ज्योतिर्लिंग स्तोत्र – अर्थसहित

सौराष्ट्रे सोमनाथं च, श्रीशैले मल्लिकार्जुनम्।
उज्जयिन्यां महाकालं, ओम्कारम् अमलेश्वरम्॥

एतानि ज्योतिर्लिङ्गानि, सायं प्रातः पठेन्नरः।
सप्तजन्मकृतं पापं, स्मरणेन विनश्यति॥


  • Click on the three dots icon on audio bar and then click download to save the bhajan.

Jyotirlinga Stotra – with Meaning Lyrics

_
_

कैलाश के निवासी नमो बार बार

कैलाश के निवासी नमो बार बार हूँ,
आयो शरण तिहारी भोले तार तार तू,

भक्तो को कभी शिव तुने निराश ना किया
माँगा जिन्हें जो चाहा वरदान दे दिया।
क्या क्या नहीं दिया, हम क्या प्रमाण दे
बस गए त्रिलोक शम्भू तेरे दान से॥


  • Click on the three dots icon on audio bar and then click download to save the bhajan.
  • ऑडियो प्लेयर के तीन डॉट्स icon पर क्लिक करे, फिर डाउनलोड पर क्लिक करके भजन सेव करें।

Kailash Ke Nivasi Namo Lyrics

_

शीश गंग अर्धांग पार्वती – शिव आरती

शीश गंग अर्धांग पार्वती, सदा विराजत कैलासी।
नंदी भृंगी नृत्य करत हैं, धरत ध्यान सुर सुखरासी॥

शीतल मन्द सुगन्ध पवन बह, बैठे हैं शिव अविनाशी।
कोयल शब्द सुनावत सुन्दर, भ्रमर करत हैं गुंजा-सी॥


  • Click on the three dots icon on audio bar and then click download to save the bhajan.
  • ऑडियो प्लेयर के तीन डॉट्स icon पर क्लिक करे, फिर डाउनलोड पर क्लिक करके भजन सेव करें।

Sheesh Gang Ardhang Parvati – Shiv Aarti Lyrics

_

For complete list of Shiv Bhajan Download, Click

Shiv Bhajan List

_

Shiv Bhajans List

For complete list of Shiv Bhajan Download, Click

Shiv Bhajan List