Nazar Mein Rehte Ho, Magar Tum Nazar Nahi Aate

Krishna Mantra Jaap (श्री कृष्ण मंत्र जाप)

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय हरे राम – हरे कृष्ण श्री कृष्ण शरणम ममः
हरे कृष्ण हरे कृष्ण – कृष्ण कृष्ण हरे हरे – हरे राम हरे राम – राम राम हरे हरे
Krishna Bhajan
_

नजर में रहते हो, मगर तुम नजर नहीं आते


नजर में रहते हो,
मगर तुम नजर नहीं आते।


नजर में रहते हो,
मगर तुम नजर नहीं आते॥

ये दिल बुलाये श्याम,
तुम्हे पर तुम नहीं आते।
नजर में रहते हो,
मगर तुम नजर नहीं आते॥

नजर में रहते हो, मगर तुम नजर नहीं आते

सांसो की हर डोर पुकारे साँवरिया,
नैना तुझको ही ढूंढे है साँवरिया।
तू जो नैनो में आ जाए मेरे,
नैनो को बंद करलू साँवरिया॥

इधर नहीं आते, साँवरे इधर नहीं आते।
इधर नहीं आते, साँवरे इधर नहीं आते।
ये दिल बुलाये श्याम,
तुम्हे पर तुम नहीं आते॥

नजर में रहते हो,
मगर तुम नजर नहीं आते।
नजर में रहते हो,
मगर तुम नजर नहीं आते॥

नैना तुझको ही ढूंढे है साँवरिया

होता है आभास तुम्हारा सांवरिया,
लगता है तू पास खड़ा है सांवरिया।
गिरने के पहले ही संभालोगे,
हम को यकीन है ये सांवरिया॥

मेहर नहीं करते,
क्यों तुम मेहर नहीं करते।
मेहर नही करते
सांवरे मेहर नही करते।
ये दिल बुलाये श्याम,
तुम्हे पर तुम नहीं आते॥

नजर में रहते हो,
मगर तुम नजर नहीं आते।
नजर में रहते हो,
मगर तुम नजर नहीं आते॥

लगता है तू पास खड़ा है सांवरिया

भक्त तेरा नाम जपे है साँवरिया,
हर पल तेरी राह तके है साँवरिया।
तेरे आने की आस लिए दिल में,
तक तक नैना थके है सांवरिया॥

खबर नहीं लेते हमारी खबर नहीं लेते।
खबर नहीं लेते हमारी खबर नहीं लेते।
ये दिल बुलाये श्याम तुम्हे,
पर तुम नहीं आते॥

नजर में रहते हो,
मगर तुम नजर नहीं आते।
नजर में रहते हो,
मगर तुम नजर नहीं आते॥

Nazar Mein Rehte Ho
Nazar Mein Rehte Ho

नजर में रहते हो,
मगर तुम नजर नहीं आते॥

_

Krishna Bhajans

_
_

Nazar Mein Rehte Ho Magar Tum Nazar Nahi Aate

Kamlesh Deepak Drolia

_

Nazar Mein Rehte Ho Magar Tum Nazar Nahi Aate


Nazar mein rehte ho,
magar tum nazar nahi aate.
Nazar mein rehte ho,
magar tum nazar nahi aate.

Ye dil bulaaye shyam,
tumhe par tum nahin aate.
Nazar mein rehte ho,
magar tum nazar nahi aate.

Saanso ki har dor pukaare saawariya,
naina tujhako hee dhoondhe hai saawariya.
Too jo naino mein aa jaaye mere,
naino ko band karaloo saawariya.

Idhar nahin aate, saaware idhar nahin aate.
Idhar nahin aate, saaware idhar nahin aate.
Ye dil bulaaye shyam,
tumhe par tum nahi aate.

Nazar mein rehte ho,
magar tum nazar nahi aate.
Nazar mein rehte ho,
magar tum nazar nahi aate.

Hota hai aabhaas tumhaara saanvariya,
lagata hai too paas khada hai saanvariya.
Girane ke pahale hee sambhaaloge,
hum ko yakeen hai ye saanvariya.

Mehar nahi karate,
kyon tum mehar nahi karate.
Mehar nahee karate
saanvare mehar nahee karate.
Ye dil bulaaye shyaam,
tumhe par tum nahin aate.

Nazar mein rehte ho,
magar tum nazar nahi aate.
Nazar mein rehte ho,
magar tum nazar nahi aate.

Bhakt tera naam jape hai saanvariya,
har pal teri raah take hai saanvariya.
Tere aane ki aas lie dil mein,
tak tak naina thake hai saanvariya.

Khabar nahi lete hamaari,
khabar nahin lete.
Khabar nahi lete hamaari,
khabar nahin lete.
Ye dil bulaaye shyaam tumhe,
par tum nahin aate.

Nazar mein rehte ho,
magar tum nazar nahi aate.
Nazar mein rehte ho,
magar tum nazar nahi aate.

Nazar Mein Rehte Ho Magar Tum Nazar Nahi Aate
Nazar Mein Rehte Ho Magar Tum Nazar Nahi Aate

Nazar mein rehte ho,
magar tum nazar nahi aate.

_

Krishna Bhajans

_