Vividh Bhajan 2

मन की तरंग मार लो, बस हो गया भजन

मन की तरंग मार लो, बस हो गया भजन
आदत बुरी सुधार लो, बस हो गया भजन

आये हो तुम कहा से, जाओगे तुम कहाँ
इतना तो दिल विचार लो, बस हो गया भजन

कोई तुम्हे बुरा कहे, तुम सुनकर करो क्षमा
वाणी का स्वर सुधार लो, बस हो गया भजन
मन की तरंग मार लो, बस हो गया भजन

read more ....

मुझे तूने मालिक बहुत कुछ दिया है

मुझे तूने मालिक बहुत कुछ दिया है
तेरा शुक्रिया है, तेरा शुक्रिया है
ना मिलती अगर दी हुई दात तेरी
तो क्या थी ज़माने में औकात मेरी
ये बंदा तो तेरे सहारे जिया है
तेरा शुक्रिया है, तेरा शुक्रिया है

read more ....