Hindi

या देवी सर्वभूतेषु मंत्र - दुर्गा मंत्र - अर्थ सहित

या देवी सर्वभूतेषु शक्ति-रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥
= जो देवी सब प्राणियों में शक्ति रूप में स्थित हैं,
उनको नमस्कार, नमस्कार, बारंबार नमस्कार है।

read more ....

हनुमान चालीसा - अर्थ सहित - जय हनुमान ज्ञान गुन सागर

जय हनुमान ज्ञान गुण सागर, जय कपीस तिहुं लोक उजागर॥1॥
जय हनुमान – श्री हनुमान जी! आपकी जय हो।
ज्ञान गुण सागर – आप ज्ञान और गुणों के अथाह सागर हो।

read more ....