Durga Aarti

या देवी सर्वभूतेषु मंत्र - दुर्गा मंत्र - अर्थ सहित

या देवी सर्वभूतेषु शक्ति-रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥
= जो देवी सब प्राणियों में शक्ति रूप में स्थित हैं,
उनको नमस्कार, नमस्कार, बारंबार नमस्कार है।

read more ....

जगजननी जय जय माँ, जगजननी जय जय - अर्थसहित

जगजननी – समस्त संसारकी माता
जय जय माँ – सदा सर्वदा आपकी जय हो
भयहारिणी – संसारके समस्त भयको (कष्टोंको) हरनेवाली,
भवतारिणी – संसारका उद्धार करनेवाली एवं
भवभामिनि – संसारको सुशोभित करनेवाली सर्वसुंदरी,
जय जय – जगत् माता! आपकी जय हो॥

read more ....