Shiv Panchakshar Stotra – Hindi

श्री शिव पंचाक्षर स्तोत्र

नागेंद्रहाराय त्रिलोचनाय
भस्मांग रागाय महेश्वराय।
नित्याय शुद्धाय दिगंबराय
तस्मै काराय नमः शिवायः

Shri Rameshbhai Oza

_

श्री शिव पंचाक्षर स्तोत्र – नागेंद्रहाराय त्रिलोचनाय – Lyrics in Hindi

For Shiv Panchakshar Stotra with Meaning in Hindi:
नागेंद्रहाराय – हे शंकर, आप नागराज को हार स्वरूप धारण करने वाले हैं
त्रिलोचनाय – हे तीन नेत्रों वाले (त्रिलोचन)
श्री शिव पंचाक्षर स्तोत्र – अर्थ सहित पढ़ने के लिए बटन पर क्लिक करे >>


नागेंद्रहाराय त्रिलोचनाय
भस्मांग रागाय महेश्वराय।
नित्याय शुद्धाय दिगंबराय
तस्मै काराय नमः शिवायः॥


मंदाकिनी सलिल
चंदन चर्चिताय
नंदीश्वर प्रमथनाथ महेश्वराय।
मंदारपुष्प बहुपुष्प सुपूजिताय
तस्मै काराय नमः शिवायः॥


शिवाय गौरी वदनाब्जवृंद
सूर्याय दक्षाध्वरनाशकाय।
श्री नीलकंठाय वृषभद्धजाय
तस्मै शि काराय नमः शिवायः॥


वसिष्ठ कुम्भोद्भव गौतमार्य
मुनींद्र देवार्चित शेखराय।
चंद्रार्क वैश्वानर लोचनाय
तस्मै काराय नमः शिवायः॥


यक्षस्वरूपाय जटाधराय
पिनाकहस्ताय सनातनाय।
दिव्याय देवाय दिगंबराय
तस्मै काराय नमः शिवायः॥


पंचाक्षरमिदं पुण्यं यः
पठेत् शिव सन्निधौ।
शिवलोकमवाप्नोति
शिवेन सह मोदते॥


||इति श्रीशिवपञ्चाक्षरस्तोत्रं
सम्पूर्णम्||

For Shiv Panchakshar Stotra with Meaning in Hindi:
नागेंद्रहाराय – हे शंकर, आप नागराज को हार स्वरूप धारण करने वाले हैं
त्रिलोचनाय – हे तीन नेत्रों वाले (त्रिलोचन)
श्री शिव पंचाक्षर स्तोत्र – अर्थ सहित पढ़ने के लिए बटन पर क्लिक करे >>

_

For more bhajans from category, Click -

-
-

_

Shiv Bhajans

_

Bhajan List

Shiv Bhajans – Hindi
Shiv Stotra
Bhajan, Aarti, Chalisa, Dohe – Hindi List

_
_

Shiv Bhajan Lyrics

_
_

Bhajans and Aarti

_
_

Bhakti Geet Lyrics

  • महिषासुर मर्दिनी स्तोत्र - अयि गिरिनंदिनि
    अयि गिरिनंदिनि नंदितमेदिनि
    विश्वविनोदिनि नंदनुते
    गिरिवर विंध्य शिरोधिनिवासिनि
    विष्णुविलासिनि जिष्णुनुते।
  • सुंदरकाण्ड - 18
    प्रगट बखानहिं राम सुभाऊ।
    अति सप्रेम गा बिसरि दुराऊ॥
    रिपु के दूत कपिन्ह तब जाने।
    सकल बाँधि कपीस पहिं आने॥
    और देखते देखते प्रेम ऐसा बढ़ गया कि वह (रावणदूत शुक) छिपाना भूल कर रामचन्द्रजीके स्वभावकी प्रकटमें प्रशंसा करने लगा॥
  • तेरी बिगड़ी बना देगी चरण रज राधा
    Video - देवकीनंदन ठाकुर(Devkinandan Thakur)
  • तेरी बिगड़ी बना देगी,
    चरण रज राधा प्यारी की।
    तू बस एक बार श्रद्धा से,
    लगा कर देख मस्तक पर

  • भूलो मत प्यारे, बिहारीजी का नाम
    भूलो मत प्यारे, बिहारीजी का नाम
    क्योंकि, बांके बिहारी है सब सुख धाम
    बांके बिहारी की झांकी सुहानी,
    महिमा महान जिनकी जावे ना बखानी
    करते है सुर मुनि सब इनको करते प्रणाम
    मेरे बांके बिहारी है सब सुख धाम
  • रे दिल गाफिल, गफलत मत कर
    रे दिल गाफिल, गफलत मत कर
    एक दिना जम आवेगा॥ टेक॥
    सौदा करने या जग आया।
    पूजी लाया मूल गॅंवाया॥
    सिर पाहन का बोझा लीता।
    आगे कौन छुडावेगा॥
_