Om Namah Shivaya 108 Times – Hindi

ॐ नमः शिवाय 108 Times

ॐ नमः शिवाय, ॐ नमः शिवाय
ओम नमः शिवाय, ओम नमः शिवाय

Anandmurti Gurumaa


108 Times Chanting By Brahmins

_

Om Namah Shivaya 108 Times – Lyrics in Hindi


1. ॐ नमः शिवाय
2. ॐ नमः शिवाय
3. ॐ नमः शिवाय
4. ॐ नमः शिवाय


5. ॐ नमः शिवाय
6. ॐ नमः शिवाय
7. ॐ नमः शिवाय
8. ॐ नमः शिवाय


9. ॐ नमः शिवाय
10. ॐ नमः शिवाय
11. ॐ नमः शिवाय
12. ॐ नमः शिवाय

ॐ नमः शिवाय, ॐ नमः शिवाय
हर हर भोले नमः शिवाय


13. ॐ नमः शिवाय
14. ॐ नमः शिवाय
15. ॐ नमः शिवाय
16. ॐ नमः शिवाय


17. ॐ नमः शिवाय
18. ॐ नमः शिवाय
19. ॐ नमः शिवाय
20. ॐ नमः शिवाय


21. ॐ नमः शिवाय
22. ॐ नमः शिवाय
23. ॐ नमः शिवाय
24. ॐ नमः शिवाय

रामेश्वराय, शिव रामेश्वराय
हर हर भोले नमः शिवाय


25. ॐ नमः शिवाय
26. ॐ नमः शिवाय
27. ॐ नमः शिवाय
28. ॐ नमः शिवाय


29. ॐ नमः शिवाय
30. ॐ नमः शिवाय
31. ॐ नमः शिवाय
32. ॐ नमः शिवाय


33. ॐ नमः शिवाय
34. ॐ नमः शिवाय
35. ॐ नमः शिवाय
36. ॐ नमः शिवाय

गंगाधराय, शिव गंगाधराय
हर हर भोले नमः शिवाय


37. ॐ नमः शिवाय
38. ॐ नमः शिवाय
39. ॐ नमः शिवाय
40. ॐ नमः शिवाय


41. ॐ नमः शिवाय
42. ॐ नमः शिवाय
43. ॐ नमः शिवाय
44. ॐ नमः शिवाय


45. ॐ नमः शिवाय
46. ॐ नमः शिवाय
47. ॐ नमः शिवाय
48. ॐ नमः शिवाय

जटाधराय, शिव जटाधाराय
हर हर भोले नमः शिवाय


49. ॐ नमः शिवाय
50. ॐ नमः शिवाय
51. ॐ नमः शिवाय
52. ॐ नमः शिवाय


53. ॐ नमः शिवाय
54. ॐ नमः शिवाय
55. ॐ नमः शिवाय
56. ॐ नमः शिवाय


57. ॐ नमः शिवाय
58. ॐ नमः शिवाय
59. ॐ नमः शिवाय
60. ॐ नमः शिवाय

सोमेश्वराय, शिव सोमेश्वराय
हर हर भोले नमः शिवाय


61. ॐ नमः शिवाय
62. ॐ नमः शिवाय
63. ॐ नमः शिवाय
64. ॐ नमः शिवाय


65. ॐ नमः शिवाय
66. ॐ नमः शिवाय
67. ॐ नमः शिवाय
68. ॐ नमः शिवाय


69. ॐ नमः शिवाय
70. ॐ नमः शिवाय
71. ॐ नमः शिवाय
72. ॐ नमः शिवाय

विश्वेश्वराय, शिव विश्वेश्वराय
हर हर भोले नमः शिवाय


73. ॐ नमः शिवाय
74. ॐ नमः शिवाय
75. ॐ नमः शिवाय
76. ॐ नमः शिवाय


77. ॐ नमः शिवाय
78. ॐ नमः शिवाय
79. ॐ नमः शिवाय
80. ॐ नमः शिवाय


81. ॐ नमः शिवाय
82. ॐ नमः शिवाय
83. ॐ नमः शिवाय
84. ॐ नमः शिवाय

कोटेश्वराय शिव कोटेश्वराय
हर हर भोले नमः शिवाय


85. ॐ नमः शिवाय
86. ॐ नमः शिवाय
87. ॐ नमः शिवाय
88. ॐ नमः शिवाय


89. ॐ नमः शिवाय
90. ॐ नमः शिवाय
91. ॐ नमः शिवाय
92. ॐ नमः शिवाय


93. ॐ नमः शिवाय
94. ॐ नमः शिवाय
95. ॐ नमः शिवाय
96. ॐ नमः शिवाय

ओम नमः शिवाय, ओम नमः शिवाय
हर हर भोले नमः शिवाय


97. ॐ नमः शिवाय
98. ॐ नमः शिवाय
99. ॐ नमः शिवाय
100. ॐ नमः शिवाय


101. ॐ नमः शिवाय
102. ॐ नमः शिवाय
103. ॐ नमः शिवाय
104. ॐ नमः शिवाय


105. ॐ नमः शिवाय
106. ॐ नमः शिवाय
107. ॐ नमः शिवाय
108. ॐ नमः शिवाय


Tags:

-
-

_

Shiv Bhakti Geet

  • आरती कुंज बिहारी की - श्री कृष्ण आरती
    आरती कुंज बिहारी की
    श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की।
    गले में बैजंती माला
    बजावे मुरली मधुर बाला
    राधिका रमण बिहारी की
    श्री गिरीधर कृष्ण मुरारी की
  • अच्युतम केशवं कृष्ण दामोदरं
    अच्युतम केशवं कृष्ण दामोदरं,
    राम नारायणं जानकी वल्लभं॥
    कौन कहता है भगवान आते नहीं,
    तुम मीरा के जैसे बुलाते नहीं।
    कौन कहता है भगवान खाते नहीं,
    बेर शबरी के जैसे खिलाते नहीं।
  • नन्द के आनंद भयो, जय कन्हैया लाल की
    आनंद उमंग भयो, जय हो नन्द लाल की।
    नन्द के आनंद भयो, जय कन्हैया लाल की॥
    बृज में आनंद भयो, जय यशोदा लाल की।
    हाथी घोडा पालकी, जय कन्हैया लाल की॥
    जय हो नंदलाल की, जय यशोदा लाल की।
    हाथी घोडा पालकी, जय कन्हैया लाल की॥
  • मधुराष्टकम - अर्थ साहित - अधरं मधुरं वदनं मधुरं
    अधरं मधुरं वदनं मधुरं,
    नयनं मधुरं हसितं मधुरम्।
    हृदयं मधुरं गमनं मधुरं,
    मधुराधिपतेरखिलं मधुरम्॥
    अधरं मधुरं - श्री कृष्ण के होंठ मधुर हैं
    वदनं मधुरं - मुख मधुर है
    नयनं मधुरं - नेत्र (ऑंखें) मधुर हैं
    हसितं मधुरम् - मुस्कान मधुर है
  • मैं आरती तेरी गाउँ, ओ केशव कुञ्ज बिहारी
    मैं आरती तेरी गाउँ, ओ केशव कुञ्ज बिहारी।
    मैं नित नित शीश नवाऊँ, ओ मोहन कृष्ण मुरारी॥
    जो आए शरण तिहारी, विपदा मिट जाए सारी।
    हम सब पर कृपा रखना, ओ जगत के पालनहारी॥
_

Bhajan List

Krishna Bhajans
Ram Bhajan
Bhajan, Aarti, Chalisa, Dohe – List

_
_

Shiv Bhajan Lyrics

  • हर साँस में हो सुमिरन तेरा
    हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
    यूँ बीत जाये जीवन मेरा
    तेरी पूजा करते बीते साँझ सवेरा
    यूँ बीत जाये जीवन मेरा
  • ओ पालनहारे, निर्गुण और न्यारे
    ओ पालनहारे, निर्गुण और न्यारे
    तुम्हरे बिन हमरा कौनो नाहीं
    हमरी उलझन, सुलझाओ भगवन
    तुम्हरे बिन हमरा कौनो नाहीं
  • श्यामा तेरे चरणों की, गर धूल जो मिल जाए
    श्यामा तेरे चरणों की, राधे तेरे चरणों की,
    गर धूल जो मिल जाए।
    सच कहता हूँ मेरी तकदीर बदल जाए॥
    सुनता हूँ तेरी रहमत, दिन रात बरसती है।
    एक बूँद जो मिल जाए, दिल की कली खिल जाए॥

  • गोविन्द जय-जय गोपाल जय-जय
    गोविन्द जय-जय गोपाल जय-जय।
    राधा-रमण हरि, गोविन्द जय-जय॥
    राधाकी जय-जय, रुक्मनिकी जय-जय।
    मोर-मुकुट बन्सीवाले की जय-जय॥
    ब्रह्माकी जय-जय, विष्णूकी जय-जय।
    उमा- पति शिव शंकरकी जय-जय॥
  • मेरी लगी श्याम संग प्रीत
    मेरी लगी श्याम संग प्रीत,
    ये दुनिया क्या जाने
    मुझे मिल गया मन का मीत,
    ये दुनिया क्या जाने
    क्या जाने कोई क्या जाने
  • ऐसी लागी लगन, मीरा हो गयी मगन
    ऐसी लागी लगन, मीरा हो गयी मगन।
    वो तो गली गली, हरी गुण गाने लगी॥
    महलों में पली, बन के जोगन चली।
    मीरा रानी दीवानी कहाने लगी॥
    कोई रोके नहीं, कोई टोके नहीं,
    मीरा गोविन्द गोपाल गाने लगी।
  • कान्हा रे थोडा सा प्यार दे
    कान्हा रे थोडा सा प्यार दे,
    चरणों में बैठा के तार दे
    ओ गोरी, घूंघट उतर दे,
    प्रेम की भिक्षा झोली में डार (डाल) दे
  • दूर नगरी, बड़ी दूर नगरी
    दूर नगरी, बड़ी दूर नगरी
    कैसे आऊं मैं कन्हैया, तेरी गोकुल नगरी
    कान्हा दूर नगरी, बड़ी दूर नगरी रात में आऊं तो कान्हा, डर मोहे लागे
    दिन में आऊं तो, देखे सारी नगरी
    बड़ी दूर नगरी
  • मुझे चरणों से लगा ले, मेरे श्याम मुरली वाले
    मुझे चरणों से लगा ले, मेरे श्याम मुरली वाले।
    मेरी सांस सांस में तेरा, है नाम मुरली वाले॥
    भक्तो की तुमने कान्हा, विपदा है टारी।
    मेरी भी बाह थामो, आ के बिहारी।
    बिगड़े बनाए तुमने, हर काम मुरली वाले॥
  • जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण कहो या राम
    जग में सुन्दर है दो नाम,
    चाहे कृष्ण कहो या राम
    बोलो राम राम राम,
    बोलो श्याम श्याम श्याम
_
_

Bhajans and Aarti

  • जगजननी जय जय माँ, जगजननी जय जय - अर्थसहित
    जगजननी - समस्त संसारकी माता
    जय जय माँ - सदा सर्वदा आपकी जय हो
    भयहारिणी - संसारके समस्त भयको (कष्टोंको) हरनेवाली,
    भवतारिणी - संसारका उद्धार करनेवाली एवं
    भवभामिनि - संसारको सुशोभित करनेवाली सर्वसुंदरी,
    जय जय - जगत् माता! आपकी जय हो॥
  • दुर्गा सप्तशती - प्रथम अध्याय
    मेधा ऋषि का - राजा सुरथ और समाधि को - भगवती की महिमा बताते हुए - मधु और कैटभ वध का प्रसंग सुनाना।
    महाकाली जी का ध्यान मन्त्र
    ॐ नमश्चण्डिकायै - ॐ चण्डीदेवीको नमस्कार है।
  • माँ दुर्गा के 108 नाम - अर्थसहित
    अनन्ता: जिनके स्वरूप का कहीं अन्त नहीं
    अभव्या : जिससे बढ़कर भव्य कुछ नहीं
    महिषासुर-मर्दिनि: महिषासुर का वध करने वाली
    सर्वासुरविनाशा: सभी राक्षसों का नाश करने वाली
    माहेश्वरी: प्रभु शिव की शक्ति
  • जगजननी जय जय माँ
    जगजननी जय जय माँ, जगजननी जय जय।
    भयहारिणी, भवतारिणी, भवभामिनि जय जय॥
    तू ही सत्-चित्-सुखमय, शुद्ध ब्रह्मरूपा।
    सत्य सनातन, सुन्दर, पर-शिव सुर-भूपा॥
  • अम्बे तू है जगदम्बे काली
    अम्बे तू है जगदम्बे काली,
    जय दुर्गे खप्पर वाली।
    तेरे ही गुण गायें भारती,
    नहीं मांगते धन और दौलत,
    ना चाँदी, ना सोना।
    हम तो मांगे माँ तेरे मन में,
    इक छोटा सा कोना॥
  • दया कर, दान भक्ति का
    दया कर, दान भक्ति का, हमें परमात्मा देना।
    दया करना, हमारी आत्मा को शुद्धता देना॥
    हमारे ध्यान में आओ, प्रभु आँखों में बस जाओ।
    अंधेरे दिल में आकर के परम ज्योति जगा देना॥
  • अब सौंप दिया इस जीवन का सब भार
    अब सौंप दिया इस जीवन का,
    सब भार तुम्हारे हाथों में
    है जीत तुम्हारे हाथों में,
    और हार तुम्हारे हाथों में
  • मैली चादर ओढ़ के कैसे (MP3 Download)
    मैली चादर ओढ़ के कैसे,
    द्वार तुम्हारे आऊँ।
    हे पावन परमेश्वर मेरे,
    मन ही मन शरमाऊँ॥
  • यह तो प्रेम की बात है उधो
    यह तो प्रेम की बात है उधो,
    बंदगी तेरे बस की नहीं है।
    जिसकी नजरो में है श्याम प्यारे,
    वो तो रहते हैं जग से न्यारे।
  • मेरे दाता के दरबार में
    मेरे दाता के दरबार में, सब लोगो का खाता।
    जो कोई जैसी करनी करता, वैसा ही फल पाता॥
    क्या साधू क्या संत गृहस्थी, क्या राजा क्या रानी।
    प्रभू की पुस्तक में लिक्खी है, सबकी कर्म कहानी।
    अन्तर्यामी अन्दर बैठा, सबका हिसाब लगाता॥
_
_

Bhakti Song Lyrics

  • आरती कुंज बिहारी की - श्री कृष्ण आरती
    आरती कुंज बिहारी की
    श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की।
    गले में बैजंती माला
    बजावे मुरली मधुर बाला
    राधिका रमण बिहारी की
    श्री गिरीधर कृष्ण मुरारी की
  • अच्युतम केशवं कृष्ण दामोदरं
    अच्युतम केशवं कृष्ण दामोदरं,
    राम नारायणं जानकी वल्लभं॥
    कौन कहता है भगवान आते नहीं,
    तुम मीरा के जैसे बुलाते नहीं।
    कौन कहता है भगवान खाते नहीं,
    बेर शबरी के जैसे खिलाते नहीं।
  • नन्द के आनंद भयो, जय कन्हैया लाल की
    आनंद उमंग भयो, जय हो नन्द लाल की।
    नन्द के आनंद भयो, जय कन्हैया लाल की॥
    बृज में आनंद भयो, जय यशोदा लाल की।
    हाथी घोडा पालकी, जय कन्हैया लाल की॥
    जय हो नंदलाल की, जय यशोदा लाल की।
    हाथी घोडा पालकी, जय कन्हैया लाल की॥
  • मधुराष्टकम - अर्थ साहित - अधरं मधुरं वदनं मधुरं
    अधरं मधुरं वदनं मधुरं,
    नयनं मधुरं हसितं मधुरम्।
    हृदयं मधुरं गमनं मधुरं,
    मधुराधिपतेरखिलं मधुरम्॥
    अधरं मधुरं - श्री कृष्ण के होंठ मधुर हैं
    वदनं मधुरं - मुख मधुर है
    नयनं मधुरं - नेत्र (ऑंखें) मधुर हैं
    हसितं मधुरम् - मुस्कान मधुर है
  • मैं आरती तेरी गाउँ, ओ केशव कुञ्ज बिहारी
    मैं आरती तेरी गाउँ, ओ केशव कुञ्ज बिहारी।
    मैं नित नित शीश नवाऊँ, ओ मोहन कृष्ण मुरारी॥
    जो आए शरण तिहारी, विपदा मिट जाए सारी।
    हम सब पर कृपा रखना, ओ जगत के पालनहारी॥

ॐ नमः शिवाय मंत्र का जाप 108 बार

1. ॐ नमः शिवाय
2. ॐ नमः शिवाय
3. ॐ नमः शिवाय
4. ॐ नमः शिवाय

_