Satguru – Kabir Dohe – Hindi

– सतगुरु सम कोई नहीं, सात दीप नौ खण्ड।
– सतगुरु तो सतभाव है, जो अस भेद बताय।
– तीरथ गये ते एक फल, सन्त मिले फल चार।
– सतगुरु खोजो सन्त, जोव काज को चाहहु।

_

Satguru – Kabir Dohe


सतगुरु सम कोई नहीं,
सात दीप नौ खण्ड।
तीन लोक न पाइये,
अरु इक्कीस ब्रह्म्ण्ड॥


कबीर माया मोहिनी,
जैसी मीठी खांड़।
सतगुरु की कृपा भई,
नहीं तौ करती भांड़॥


सतगुरु तो सतभाव है,
जो अस भेद बताय।
धन्य शीष धन भाग तिहि,
जो ऐसी सुधि पाय॥


तीरथ गये ते एक फल,
सन्त मिले फल चार।
सतगुरु मिले अनेक फल,
कहें कबीर विचार॥


सतगुरु खोजो सन्त,
जोव काज को चाहहु।
मिटे भव को अंक,
आवा गवन निवारहु॥


सतगुरु शब्द उलंघ के,
जो सेवक कहूँ जाय।
जहाँ जाय तहँ काल है,
कहैं कबीर समझाय॥


सतगुरु को माने नही,
अपनी कहै बनाय।
कहै कबीर क्या कीजिये,
और मता मन जाय॥


सतगुरु मिला जु जानिये,
ज्ञान उजाला होय।
भ्रम का भांड तोड़ि करि,
रहै निराला होय॥


सतगुरु मिले जु सब मिले,
न तो मिला न कोय।
माता-पिता सुत बाँधवा,
ये तो घर घर होय॥


चौंसठ दीवा जोय के,
चौदह चन्दा माहिं।
तेहि घर किसका चाँदना,
जिहि घर सतगुरु नाहिं॥


सुख दुख सिर ऊपर सहै,
कबहु न छोड़े संग।
रंग न लागै का,
व्यापै सतगुरु रंग॥


यह सतगुरु उपदेश है,
जो मन माने परतीत।
करम भरम सब त्यागि के,
चलै सो भव जल जीत॥


जाति बरन कुल खोय के,
भक्ति करै चितलाय।
कहैं कबीर सतगुरु मिलै,
आवागमन नशाय॥


जेहि खोजत ब्रह्मा थके,
सुर नर मुनि अरु देव।
कहै कबीर सुन साधवा,
करु सतगुरु की सेव॥


For more bhajans from category, Click -

-
-

_

Kabir ke Dohe and Kabir Bhajans

  • Maati Kahe Kumhar Se
    दुर्बल को ना सतायिये,
    जाकी मोटी हाय।
    बिना जीब के हाय से,
    लोहा भस्म हो जाए॥
  • Ram Binu Tan Ko Taap Na Jayee – Kabir Bhajan – Hindi
    राम बिनु तन को ताप न जाई
    जल में अगन रही अधिकाई।
    राम बिनु तन को ताप न जाई॥
    राम बिनु तन को ताप न जाई॥
  • बहुरि नहिं आवना| Kabir ke Bhajan
    बहुरि नहिं आवना या देस॥
    जो जो ग बहुरि नहि
    आ पठवत नाहिं सेंस।
    सुर नर मुनि अरु पीर औलिया
    देवी देव गनेस॥
  • Re Dil Gaafil, Gaflat Mat Kar – Kabir Bhajan – Hindi
    रे दिल गाफिल, गफलत मत कर
    एक दिना जम आवेगा॥ टेक॥
    सौदा करने या जग आया।
    पूजी लाया मूल गॅंवाया॥
    सिर पाहन का बोझा लीता।
    आगे कौन छुडावेगा॥
  • Man Lagyo Mero Yaar Fakiri Mein – Kabir Bhajan – Hindi
    मन लाग्यो मेरो यार, फ़कीरी में
    जो सुख पाऊँ नाम भजन में
    सो सुख नाहिं अमीरी में
    आखिर यह तन ख़ाक मिलेगा
    कहाँ फिरत मग़रूरी में
  • Beet Gaye Din Bhajan Bina Re
    बीत गये दिन भजन बिना रे।
    भजन बिना रे, भजन बिना रे॥
    बाल अवस्था खेल गवांयो।
    जब यौवन तब मान घना रे॥
  • Sant Kabir ke Dohe – 1 – Hindi
    दु:ख में सुमिरन सब करै, सुख में करै न कोय।

  • Sant Kabir ke Dohe – Sumiran + Meaning
    - दु:ख में सुमिरन सब करै, सुख में करै न कोय।
    - कबीर सुमिरन सार है, और सकल जंजाल।
    - सांस सांस सुमिरन करो, और जतन कछु नाहिं॥
    - राम नाम सुमिरन करै, सतगुरु पद निज ध्यान।
  • Tune Raat Gawai Soi Ke – Kabir Bhajan – Hindi
    तूने रात गँवायी सोय के,
    दिवस गँवाया खाय के।
    हीरा जनम अमोल था,
    कौड़ी बदले जाय॥
  • Sangati – Kabir Dohe – Hindi
    कबीर संगत साधु की, नित प्रति कीजै जाय।
    कबीर संगत साधु की, जौ की भूसी खाय।
    संगत कीजै साधु की, कभी न निष्फल होय।
    संगति सों सुख्या ऊपजे, कुसंगति सो दुख होय।
_

Bhajan List

Kabir Bhajans
Kabir ke Dohe
Bhajan, Aarti, Chalisa, Dohe – List

_
_

Kabir Bhajan Lyrics

  • Naiya Padi Majhdhar – Kabir Bhajan – Hindi
    नैया पड़ी मंझधार,
    गुरु बिन कैसे लागे पार।
    अन्तर्यामी एक तुम्ही हो,
    जीवन के आधार।
    जो तुम छोड़ो हाथ प्रभु जी, कौन उतारे पार॥
  • Jhini Jhini Bini Chadariya
    झीनी झीनी बीनी चदरिया
    काहे का ताना काहे की भरनी।
    कौन तार से बीनी चदरिया॥
    इदा पिङ्गला ताना भरनी।
    सुषुम्ना तार से बीनी चदरिया॥
  • Guru Mahima – Kabir Dohe – Hindi
    - गुरु गोविंद दोऊँ खड़े, काके लागूं पांय।
    - गुरु आज्ञा मानै नहीं, चलै अटपटी चाल।
    - गुरु बिन ज्ञान न उपजै, गुरु बिन मिलै न मोष।
    - सतगुरू की महिमा अनंत, अनंत किया उपकार।
  • Sai Ki Nagariya Jaana Hai Re Bande – Hindi
    साई की नगरिया जाना है रे बंदे
    जाना है रे बंदे
    जग नाही अपना, जग नाही अपना,
    बेगाना है रे बंदे
    जाना है रे बंदे, जाना है रे बंदे
  • Man ka Pher – Kabir Dohe – Hindi
    - माला फेरत जुग गया, मिटा न मन का फेर।
    - माया मरी न मन मरा, मर मर गये शरीर।
    - न्हाये धोये क्या हुआ, जो मन का मैल न जाय।
    - मीन सदा जल में रहै, धोये बास न जाय॥
_
_

Bhajans and Aarti

  • Jago He Jagdambe, Jago He Jwala
    Jago he Jagdambe, jago he Jwala
    Jago he Durge maa, jago pritpaala.
    Bhakt jano ne tere dar pe dera daala
    Jago, Maa jago, Maa jago.
  • Subah Subah Le Shiv Ka Naam
    सुबह सुबह ले शिव का नाम,
    कर ले बन्दे यह शुभ काम
    ओम नमः शिवाय, ओम नमः शिवाय
    ओम नमः शिवाय, ओम नमः शिवाय
  • Daya Kar Daan Bhakti Ka
    दया कर, दान भक्ति का, हमें परमात्मा देना।
    दया करना, हमारी आत्मा को शुद्धता देना॥
    हमारे ध्यान में आओ, प्रभु आँखों में बस जाओ।
    अंधेरे दिल में आकर के परम ज्योति जगा देना॥
  • Man Tera Mandir Aankhen Diya Bati
    हे महाकाल महाशक्ती, हमे दे दे ऐसी भक्ती
    हे जगजननी महामाया, है तु ही धूप और छाया
    तू अमर अजर अविनाशी, तु अनमिट पू्र्णमासी
    सब करके दुर अंधेरे, हमे बक्क्षों नये सवेरे
  • Duniya Ke Malik Ko Bhagwan Kehte Hai
    Duniya ke malik ko bhagwan kehte hai
    Duniya ke malik ko bhagwan kehte hai
    Sankat ke saathi ko Hanuman kehte hain
    Sankat ke saathi ko Hanuman kehte hain
  • Jagat Ke Rang Kya Dekhu – 2 – Khatu Shyam Bhajan – Hindi
    जगत के रंग क्या देखूं,
    तेरा दीदार काफी है।
    क्यों भटकूँ गैरों के दर पे,
    तेरा दरबार काफी है॥
    चले आओ मेरे मोहन,
    दरस की प्यास काफी है॥
  • Tan Ke Tambure Me, Do Saanso Ki Taar Bole
    तन के तम्बूरे में, दो सांसो की तार बोले
    जय सिया राम राम जय राधे श्याम श्याम
    अब तो इस मन के मंदिर में, प्रभु का हुआ बसेरा।
    मगन हुआ मन मेरा, छूटा जनम जनम का फेरा॥
  • Jai Ganesh Jai Ganesh Deva – Ganesh Aarti
    Jai Ganesh, Jai Ganesh, Jai Ganesh Deva.
    Mata jaki Parvati, pita Mahadeva.
    Ek dant dayaavant, chaar bhuja dhaari.
    Maathe par tilak sohe, moose ki savaari.
  • Ek Fakira Aaya Shirdi Gaon Mein – Hindi
    कोई कहे संत लगता है,
    कोई पीर फ़क़ीर बताये।
    कभी अल्लाह अल्लाह बोले,
    कभी राम नाम गुण गाये।
_
_

Bhakti Geet Lyrics

  • Har Saans Mein Ho Sumiran Tera
    Har saans mein ho sumiran tera,
    yu beet jaaye jivan mera
    Teri pooja karate beete saanjh savera
    Yu beet jaaye jivan mera
  • Shri Ramchandra Kripalu Bhajman – Meaning
    श्रीरामचन्द्र कृपालु भज मन
    हरण भवभय दारुणम्।
    नवकंज-लोचन कंज-मुख
    कर-कंज पद-कंजारुणम्॥
    श्रीरामचन्द्र कृपालु भज मन - हे मन, कृपालु (कृपा करनेवाले, दया करनेवाले) भगवान श्रीरामचंद्रजी का भजन कर
  • Maati Kahe Kumhar Se
    दुर्बल को ना सतायिये,
    जाकी मोटी हाय।
    बिना जीब के हाय से,
    लोहा भस्म हो जाए॥
  • Yeh To Prem Ki Baat Hai Udho
    Yeh to prem ki baat hai udho,
    Bandagi tere bas ki nahin hai.
    Yahaan sar deke hote hai saude
    Aashki itani sasti nahin hai.
  • Hey Maat Meri – Kaisi Yeh Der Lagai Hai Durge
    Hey maat meri, hey maat meri
    Hey maat meri, hey maat meri
    Kaisi yeh der lagai hai Durge
    Hey maat meri, hey maat meri
_