Jahan Le Chaloge, Wahi Mai Chalunga – Hindi

जहाँ ले चलोगे, वहीं मैं चलूँगा।
जहां नाथ रख लोगे, वहीं मैं रहूँगा॥
यह जीवन समर्पित, चरण में तुम्हारे।
तुम्ही मेरे सर्वस्व, तुम्ही प्राण प्यारे।

Sudhanshu ji Maharaj

Shri Vinod Agarwal

_

Jahan Le Chaloge, Wahi Mai Chalunga


जहाँ ले चलोगे, वहीं मैं चलूँगा।
जहां नाथ रख लोगे, वहीं मैं रहूँगा॥

जहाँ ले चलोगे, वहीं मैं चलूँगा।
जहां नाथ रख लोगे, वहीं मैं रहूँगा॥
जहाँ ले चलोगे, वहीं मैं चलूँगा


यह जीवन समर्पित, चरण में तुम्हारे।
तुम्ही मेरे सर्वस्व, तुम्ही प्राण प्यारे।
तुम्हे छोड़ कर नाथ किससे कहूँगा॥

जहाँ ले चलोगे वहीं मैं चलूँगा।
जहां नाथ रख लोगे, वहीं मैं रहूँगा॥
जहाँ ले चलोगे, वहीं मैं चलूँगा


ना कोई उलाहना, ना कोई अर्जी।
करलो करालो, जो है तेरी मर्जी।
कहना भी होगा तो, तुम्ही से कहूँगा॥

जहाँ ले चलोगे, वहीं मैं चलूँगा।
जहां नाथ रख लोगे, वहीं मैं रहूँगा॥
जहाँ ले चलोगे, वहीं मैं चलूँगा


दयानाथ दयनीय मेरी अवस्था।
तेरे हाथ है अब मेरी सारी व्यवस्था।
जो भी कहोगे तुम, वही मैं करूँगा॥

जहाँ ले चलोगे वहीं मैं चलूँगा।
जहां नाथ रख लोगे, वहीं मैं रहूँगा॥
जहाँ ले चलोगे, वहीं मैं चलूँगा


जहाँ ले चलोगे, वहीं मैं चलूँगा।
जहां नाथ रख लोगे, वहीं मैं रहूँगा॥


For more bhajans from category, Click -

-
-

_

Prayers

_

Bhajan List

Prayers
Krishna Bhajans – Hindi
Bhajan, Aarti, Chalisa, Dohe – List

_
_

Prayers Lyrics

_
_

Bhajans and Aarti

_
_

Bhakti Geet Lyrics

_