Shiv Bhajans – List – Hindi

शिव भजन - Shiv Bhajan List in Hindi


  • शिव आरती - ओम जय शिव ओंकारा
    जय शिव ओंकारा, ओम जय शिव ओंकारा।
    ब्रह्मा, विष्णु, सदाशिव, अर्द्धांगी धारा॥
    ॥ओम जय शिव ओंकारा॥
  • श्री शिव चालीसा
    जय गिरिजा पति दीन दयाला।
    सदा करत सन्तन प्रतिपाला॥
    भाल चन्द्रमा सोहत नीके।
    कानन कुण्डल नागफनी के॥
  • कैलाश के निवासी नमो बार बार
    कैलाश के निवासी नमो बार बार हूँ,
    आयो शरण तिहारी भोले तार तार तू
    भक्तो को कभी शिव तुने निराश ना किया
    माँगा जिन्हें जो चाहा वरदान दे दिया
  • ऐसी सुबह ना आए
    ऐसी सुबह ना आए, आए ना ऐसी शाम।
    जिस दिन जुबा पे मेरी आए ना शिव का नाम॥
    मन मंदिर में वास है तेरा, तेरी छवि बसाई।
    प्यासी आत्मा बनके जोगन, तेरी शरण में आई।
    ॐ नमः शिवाय, ॐ नमः शिवाय
  • श्री शिव पंचाक्षर स्तोत्र - अर्थ सहित
    नागेंद्रहाराय त्रिलोचनाय
    भस्मांग रागाय महेश्वराय।
    पंचाक्षरमिदं पुण्यं यः – जो कोई शिव के इस पंचाक्षर मंत्र का
    पठेत् शिव सन्निधौ – नित्य ध्यान करता है
  • ॐ नमः शिवाय 108 Times
    1. ॐ नमः शिवाय
    2. ॐ नमः शिवाय
    3. ॐ नमः शिवाय
    4. ॐ नमः शिवाय
  • महामृत्युंजय मंत्र - अर्थसहित
    ॐ त्र्यम्बकं यजामहे
    सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्।
    उर्वारुकमिव बन्धनान्
    मृत्योर्मुक्षीय माऽमृतात्॥
  • शिव आरती - शीश गंग अर्धांग पार्वती
    शीश गंग अर्धंग पार्वती,
    सदा विराजत कैलासी।
    नंदी भृंगी नृत्य करत हैं,
    धरत ध्यान सुर सुखरासी॥
  • शिव रुद्राष्टकम - अर्थ सहित
    नमामीशमीशान निर्वाणरूपं
    विभुं व्यापकं ब्रह्मवेदस्वरूपम्।
    निराकार – निराकार स्वरुप
    ओमङ्कारमूलं – ओंकार के मूल
_
_


  • शिव तांडव स्तोत्र
    जटाटवीगलज्जल प्रवाह पावितस्थले
    गलेऽवलम्ब्य लम्बितां भुजङ्ग तुङ्ग मालिकाम्।
    डमड्डमड्डमड्डमन्निनाद वड्डमर्वयं
    चकार चण्डताण्डवं तनोतु नः शिवः शिवम्॥
  • शिव मानस पूजा - अर्थ सहित
    रत्नैः कल्पितमासनं हिमजलैः
    स्नानं च दिव्याम्बरं
    स्तोत्राणि सर्वा गिरो – सम्पूर्ण शब्द आपके स्तोत्र हैं
    यत्कर्म करोमि तत्तदखिलं – इस प्रकार मैं जो-जो कार्य करता हूँ,
    शम्भो तवाराधनम् – हे शम्भो, वह सब आपकी आराधना ही है
  • हे शम्भू बाबा मेरे भोले नाथ
    हे शम्भू बाबा मेरे भोले नाथ,
    तीनो लोक में तू ही तू।
    जग का स्वामी है तू, अंतरयामी है तू,
    मेरे जीवन की अनमिट कहानी है तू।
  • मिलता है सच्चा सुख
    मिलता है सच्चा सुख केवल,
    शिवजी तुम्हारे चरणों में।
    यह बिनती है पलछिन छिनकी,
    रहे ध्यान तुम्हारे चरणों में॥
  • शिवजी के १०८ नाम - अर्थ सहित
    शिव - कल्याण स्वरूप
    शंकर - सबका कल्याण करने वाले
    शम्भू - आनंद स्वरूप वाले
    महादेव - देवों के भी देव
    मृत्युंजय - मृत्यु को जीतने वाले

_
-
-
_


  • महाशिवरात्रि - शिव विवाह कथा
    महाशिवरात्रि (शिवरात्रि) हिन्दुओं का एक प्रमुख त्यौहार है।
    यह भगवान शिव का प्रमुख पर्व है।
    माँ दुर्गा अपने पहले स्वरूप में ‘शैलपुत्री’ के नाम से जानी जाती हैं।
    देवी शैलपुत्री ही महादेव कि अर्धांगिनी पार्वती है।
  • भगवान् शिव के अवतार (दस अवतार और उनकी शक्तियां + अंशावतार)
    भगवान् सदाशिवका पहला अवतार "महाकाल" है,
    इस अवतारकी शक्ति "महाकाली" हैं।
    दूसरा "तार" नामक अवतार हुआ,
    जिनकी शक्ति "तारादेवी" हैं।
  • चंदा सा मुखड़ा bright
    चंदा सा मुखड़ा bright,
    मस्तक पे moon light.
    गंगा जी सर पर white,
    देखो देवों में brilliant हैं।
    बाबा भूतनाथ जी,
    भक्तो की सुनते urgent हैं.
  • शिव शंकर का गुणगान करो
    शिव शंकर का गुणगान करो,
    शिव भक्ति का रसपान करो।
    जीवन ज्योतिर्मय हो जाए,
    ज्योतिर्लिंगो का ध्यान करो॥
  • पुरब से जब सुरज निकले
    पुरब से जब सुरज निकले,
    सिंदूरी घन छाये
    पवन के पग में नुपुर बाजे,
    मयुर मन मेरा गाये
  • सांसो की सरगम पे
    सांसो की सरगम पे धड़कन ये दोहराए
    ओम नमः शिवाय, ओम नमः शिवाय
    भगवन सहारा दे मुश्किल घडी है
    रस्ता दिखा, राही तेरी शरण आए
  • हे त्रिपुरारी, हे गंगाधारी
    हे त्रिपुरारी, हे गंगाधारी, भोले शंकर
    भसम रमाय, भक्त सहाए, हे कैलाश के वासी
    दिखा दो छवि अविनाशी
    है तेरे भक्त अभिलाषी
    अंखिया दर्शन की प्यासी
  • शिवषडाक्षरस्तोत्रम् - ॐ कारं बिंदुसंयुक्तं
    ॐ कारं बिंदुसंयुक्तं
    नित्यं ध्यायंति योगिन:।
    कामदं मोक्षदं चैव
    ॐकाराय नमो नम: ॥

_

Shiv Stotra List

  • शिव तांडव स्तोत्र - अर्थसहित
    जटाटवीगलज्जल प्रवाह पावितस्थले
    गलेऽवलम्ब्य लम्बितां भुजङ्ग तुङ्ग मालिकाम्।
    जो शिव जी डम-डम डमरू बजा कर प्रचण्ड ताण्डव करते हैं,
    वे शिवजी हमारा कल्यान करें
  • श्री शिव पंचाक्षर स्तोत्र - अर्थ सहित
    नागेंद्रहाराय त्रिलोचनाय
    भस्मांग रागाय महेश्वराय।
    पंचाक्षरमिदं पुण्यं यः – जो कोई शिव के इस पंचाक्षर मंत्र का
    पठेत् शिव सन्निधौ – नित्य ध्यान करता है
  • श्री शिव पंचाक्षर स्तोत्र
    नागेंद्रहाराय त्रिलोचनाय
    भस्मांग रागाय महेश्वराय।
    नित्याय शुद्धाय दिगंबराय
    तस्मै न काराय नमः शिवायः॥
  • महामृत्युंजय मंत्र - अर्थसहित
    ॐ त्र्यम्बकं यजामहे
    सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्।
    उर्वारुकमिव बन्धनान्
    मृत्योर्मुक्षीय माऽमृतात्॥
  • शिव तांडव स्तोत्र
    जटाटवीगलज्जल प्रवाह पावितस्थले
    गलेऽवलम्ब्य लम्बितां भुजङ्ग तुङ्ग मालिकाम्।
    डमड्डमड्डमड्डमन्निनाद वड्डमर्वयं
    चकार चण्डताण्डवं तनोतु नः शिवः शिवम्॥
  • शिव रुद्राष्टकम - अर्थ सहित
    नमामीशमीशान निर्वाणरूपं
    विभुं व्यापकं ब्रह्मवेदस्वरूपम्।
    निराकार – निराकार स्वरुप
    ओमङ्कारमूलं – ओंकार के मूल
  • ज्योतिर्लिंग स्तोत्रम - अर्थ सहित
    सौराष्ट्रे सोमनाथं च
    श्रीशैले मल्लिकार्जुनम्।
    उज्जयिन्यां महाकालं
    ओम्कारममलेश्वरम्॥
  • शिव मानस पूजा - अर्थ सहित
    रत्नैः कल्पितमासनं हिमजलैः
    स्नानं च दिव्याम्बरं
    स्तोत्राणि सर्वा गिरो – सम्पूर्ण शब्द आपके स्तोत्र हैं
    यत्कर्म करोमि तत्तदखिलं – इस प्रकार मैं जो-जो कार्य करता हूँ,
    शम्भो तवाराधनम् – हे शम्भो, वह सब आपकी आराधना ही है
  • शिव भजन - Shiv Bhajan List in Hindi
    ओम जय शिव ओंकारा
    कैलाश के निवासी नमो बार बार
    शिव शंकर का गुणगान करो
    शिव रुद्राष्टकम - अर्थ सहित
  • शिवषडाक्षरस्तोत्रम् - ॐ कारं बिंदुसंयुक्तं
    ॐ कारं बिंदुसंयुक्तं
    नित्यं ध्यायंति योगिन:।
    कामदं मोक्षदं चैव
    ॐकाराय नमो नम: ॥
  • शिव मानस पूजा
    रत्नैः कल्पितमासनं हिमजलैः
    स्नानं च दिव्याम्बरं
    नानारत्न विभूषितं मृगमदा
    मोदाङ्कितं चन्दनम्।
  • शिव प्रातः स्मरण स्तोत्र - प्रातः स्मरामि भवभीतिहरं सुरेशं
    प्रातः स्मरामि भवभीतिहरं सुरेशं
    गङ्गाधरं वृषभवाहनमम्बिकेशम्।
    खट्वाङ्गशूल वरदाभयहस्तमीशं
    संसाररोगहरमौषधमद्वितीयम्॥
_
For more bhajans from category, Click -

_

Shiv Bhajans List







_

Shiv Stotram List