Shiv Bhajans – List – Hindi

शिव भजन – आरती – चालीसा (Shiv Bhajans) – Hindi

Shiv Bhajans

_

Shiv Bhajans List in Hindi


ओम जय शिव ओंकारा
जय शिव ओंकारा
ओम जय शिव ओंकारा
ब्रह्मा, विष्णु, सदाशिव,
अर्द्धांगी धारा॥
॥ओम जय शिव ओंकारा॥


श्री बद्रीनाथ स्तुति (बद्रीनाथ आरती)
पवन मंद सुगंध शीतल,
हेम मंदिर शोभितम्।
निकट गंगा बहती निर्मल,
श्री बद्रीनाथ विश्व्म्भरम्॥


श्री शिव चालीसा
जय गिरिजा पति दीन दयाला।
सदा करत सन्तन प्रतिपाला॥
भाल चन्द्रमा सोहत नीके।
कानन कुण्डल नागफनी के॥


ओम नमः शिवाय, हर हर भोले नमः शिवाय
ओम नमः शिवाय, ओम नमः शिवाय
हर हर भोले नमः शिवाय
रामेश्वराय शिव रामेश्वराय
हर हर भोले नमः शिवाय
गंगाधराय शिव गंगाधराय
हर हर भोले नमः शिवाय


ओम नमः शिवाय धुन
ओम नमः शिवाय, ओम नमः शिवाय
ॐ नमः शिवाय, ॐ नमः शिवाय


कैलाश के निवासी नमो बार बार
कैलाश के निवासी नमो बार बार हूँ,
आयो शरण तिहारी भोले तार तार तू
भक्तो को कभी शिव तुने निराश ना किया
माँगा जिन्हें जो चाहा वरदान दे दिया


ओम सुन्दरम ओंकार सुन्दरम
ओम सुन्दरम ओंकार सुन्दरम
शिव सुन्दरम शिव नाम सुन्दरम
शिव वन्दनं शिव नाम वन्दनं
शिव धाम वन्दनं


शिव रुद्राष्टकम – अर्थ सहित
नमामीशमीशान निर्वाणरूपं
विभुं व्यापकं ब्रह्मवेदस्वरूपम्।
निराकार – निराकार स्वरुप
ओमङ्कारमूलं – ओंकार के मूल


शिव मानस पूजा – अर्थ सहित
रत्नैः कल्पितमासनं हिमजलैः
स्नानं च दिव्याम्बरं
स्तोत्राणि सर्वा गिरो – सम्पूर्ण शब्द आपके स्तोत्र हैं
यत्कर्म करोमि तत्तदखिलं – इस प्रकार मैं जो-जो कार्य करता हूँ,
शम्भो तवाराधनम् – हे शम्भो, वह सब आपकी आराधना ही है


श्री शिव पंचाक्षर स्तोत्र – अर्थ सहित
नागेंद्रहाराय त्रिलोचनाय
भस्मांग रागाय महेश्वराय।
पंचाक्षरमिदं पुण्यं यः – जो कोई शिव के इस पंचाक्षर मंत्र का
पठेत् शिव सन्निधौ – नित्य ध्यान करता है


शिवजी के १०८ नाम – अर्थ सहित
शिव – कल्याण स्वरूप
शंकर – सबका कल्याण करने वाले
शम्भू – आनंद स्वरूप वाले
महादेव – देवों के भी देव
मृत्युंजय – मृत्यु को जीतने वाले


आओ महिमा गाए भोले नाथ की
आओ महिमा गाए भोले नाथ की
भक्ति में खो जाए भोले नाथ की
भोले नाथ की जय, शम्भू नाथ की जय
गौरी नाथ की जय, दीना नाथ की जय


शिव भोला भंडारी सांई
भोला भंडारी, सांई भोला भंडारी
शिव भोला… शिव भोला…
शिव भोला भंडारी, साधु भोला भंडारी
सांई भोला भंडारी, शिव भोला भंडारी


चलो भोले बाबा के द्वारे
चलो भोले बाबा के द्वारे,
सब दुःख कटेंगे तुम्हारे
करबद्ध कर वह बोला
दो मुझे भक्ति वरदान


चलो शिव शंकर के मंदिर में भक्तो
चलो शिव शंकर के मंदिर में भक्तो
शिव जी के चरणों में सर को झुकाए
यह संसार है झूठी माया का बंधन
चलो आत्मा को तो कुंदन बनाएं


ऐसी सुबह ना आए, आए ना ऐसी शाम
ऐसी सुबह ना आए, आए ना ऐसी शाम
जिस दिन जुबा पे मेरी आए ना शिव का नाम
मन मंदिर में वास है तेरा, तेरी छवि बसाई।
प्यासी आत्मा बनके जोगन, तेरी शरण में आई।


जय जय हरिहर गौरी शंकर
नाव पड़ी मझधार बीच में,
दीखता नही किनारा है।
भोलानाथ महेश्वर शम्भु,
पार लगानेवाला है॥


पुरब से जब सुरज निकले
Video – Shreya Ghoshal
पुरब से जब सुरज निकले,
सिंदूरी घन छाये।
पवन के पग में नुपुर बाजे,
मयुर मन मेरा गाये।
ओम नमः शिवाय….


बिगड़ी मेरी बना दो मेरे बाबा भोले भाले
मेरे बाबा भोले भाले,
मेरे शम्भू भोले भाले,
कोई भूल हो गयी हो,
मेरे स्वामी माफ़ करना


मिलता है सच्चा सुख
मिलता है सच्चा सुख केवल,
शिवजी तुम्हारे चरणों में।
यह बिनती है पलछिन छिनकी,
रहे ध्यान तुम्हारे चरणों में॥

_

Tags:

-
-

_

शिव रुद्राष्टकम
नमामीशमीशान निर्वाणरूपं
विभुं व्यापकं ब्रह्मवेदस्वरूपम्।
निजं निर्गुणं निर्विकल्पं निरीहं
चिदाकाशमाकाशवासं भजेहम्॥


ज्योतिर्लिंग स्तोत्रम – अर्थ सहित
सौराष्ट्रे सोमनाथं च
श्रीशैले मल्लिकार्जुनम्।
उज्जयिन्यां महाकालं
ओम्कारममलेश्वरम्॥


शिव मानस पूजा
रत्नैः कल्पितमासनं हिमजलैः
स्नानं च दिव्याम्बरं
नानारत्न विभूषितं मृगमदा
मोदाङ्कितं चन्दनम्।


Shiva Pratah Smarana Stotram – Hindi
प्रातः स्मरामि भवभीतिहरं सुरेशं
गङ्गाधरं वृषभवाहनमम्बिकेशम्।
खट्वाङ्गशूल वरदाभयहस्तमीशं
संसाररोगहरमौषधमद्वितीयम्॥


श्री शिव पंचाक्षर स्तोत्र
नागेंद्रहाराय त्रिलोचनाय
भस्मांग रागाय महेश्वराय।
नित्याय शुद्धाय दिगंबराय
तस्मै न काराय नमः शिवायः॥


Shiv Shadakshar Stotra – Hindi
ॐ कारं बिंदुसंयुक्तं नित्यं ध्यायंति योगिन:।
कामदं मोक्षदं चैव ॐकाराय नमो नम:॥
नमंतिऋषयो देवा नमन्त्यप्सरसां गणा:।
नरा नमन्तिदेवेशं नकाराय नमो नम:॥


शिव शंकर का गुणगान करो
शिव शंकर का गुणगान करो,
शिव भक्ति का रसपान करो।
जीवन ज्योतिर्मय हो जाए,
ज्योतिर्लिंगो का ध्यान करो॥


शिवशंकर को जिसने पूजा
शिव शंकर को जिसने पूजा,
उसका ही उद्धार हुआ
अंत:काल को भवसागर में,
उसका बेडा पार हुआ


सत्यम शिवम सुन्दरम
इश्वर सत्य है, सत्य ही शिव है,
शिव ही सुन्दर है, सत्यम शिवम सुन्दरम
राम अवध में, काशी में शिव, कान्हा वृन्दावन में
दया करो प्रभु, देखू इनको, हर घर के आँगन में


सांसो की सरगम पे
सांसो की सरगम पे धड़कन ये दोहराए
ओम नमः शिवाय, ओम नमः शिवाय
भगवन सहारा दे मुश्किल घडी है
रस्ता दिखा, राही तेरी शरण आए


सुबह सुबह ले शिव का नाम
सुबह सुबह ले शिव का नाम,
कर ले बन्दे यह शुभ काम
ओम नमः शिवाय, ओम नमः शिवाय
ओम नमः शिवाय, ओम नमः शिवाय


हे त्रिपुरारी, हे गंगाधारी
दिखा दो छवि अविनाशी
है तेरे भक्त अभिलाषी
अंखिया दर्शन की प्यासी
हे त्रिपुरारी हे गंगाधारी


हे शम्भू बाबा मेरे भोले नाथ
हे शम्भू बाबा मेरे भोले नाथ,
तीनो लोक में तू ही तू।
जग का स्वामी है तू, अंतरयामी है तू,
मेरे जीवन की अनमिट कहानी है तू।


हे शिव शंकर नटराजा
हे शिव शंकर नटराजा,
मैं तो जनम-जनम का दास तेरा
निसदिन मैं नाम जपू तेरा
शिव शिव, शिव शिव, गुंजत मन मेंरा


शिव भजन – Shiv Bhajan
ओम जय शिव ओंकारा
कैलाश के निवासी नमो बार बार
शिव शंकर का गुणगान करो
शिव रुद्राष्टकम – अर्थ सहित

_

Shiv Bhajans in Hindi