Shiv Bhola Bhandari – Hindi

भोला भंडारी, सांई भोला भंडारी
शिव भोला… शिव भोला…
शिव भोला भंडारी, साधु भोला भंडारी
सांई भोला भंडारी, शिव भोला भंडारी

_

Shiv Bhola Bhandari


भोला भंडारी, सांई भोला भंडारी
भोला भंडारी, सांई भोला भंडारी

शिव भोला… शिव भोला…

शिव भोला भंडारी, साधु भोला भंडारी
सांई भोला भंडारी, शिव भोला भंडारी


भस्मासुर ने करी तपस्या
वर दे ना त्रिपुरारी
जिसके सिर पर हाथ लगावे
भस्म हुये तन सारी

शिव भोला… शिव भोला…

शिव भोला भंडारी, साधु भोला भंडारी,
सांई भोला भंडारी, शिव भोला भंडारी


शिव के सिर पर हाथ धरन की
मन में दुष्ट विचारी
भागे फिरत चहू दिस शंकर
लगा दैत्य दर भारी

गिरिजा रुप धर हरी हर बोले
बात असुर से प्यारी
जो तू मुझको नाच सिखावे
होऊ नार तुम्हारी

शिव भोला… शिव भोला…

शिव भोला भंडारी, साधु भोला भंडारी,
सांई भोला भंडारी, शिव भोला भंडारी


नाच करत अपने सिर कर धर
भस्म गयो मती मारी
ब्रहृमनन्द दे दे जोई कोई माँगे
शिव भक्तन हितकारी

शिव भोला.. शिव भोला…

शिव भोला भंडारी, साधु भोला भंडारी,
सांई भोला भंडारी, शिव भोला भंडारी


शिव भोला भंडारी, सांई भोला भंडारी
शिव भोला भंडारी, सांई भोला भंडारी

शिव भोला… शिव भोला….

शिव भोला भंडारी,
शिव भोला भंडारी, सांई भोला भंडारी
शिव भोला भंडारी, सांई भोला भंडारी


For more bhajans from category, Click -

-
-

_

Shiv Bhajans

_

Bhajan List

Shiv Bhajans – Hindi
Shiv Stotra
Bhajan, Aarti, Chalisa, Dohe – Hindi List

_
_

Shiv Bhajan Lyrics

_
_

Bhajans and Aarti

  • सुंदरकाण्ड - 12
    नाथ भगति अति सुखदायनी।
    देहु कृपा करि अनपायनी॥
    सुनि प्रभु परम सरल कपि बानी।
    एवमस्तु तब कहेउ भवानी॥
    रामचन्द्रजीके ये वचन सुनकर हनुमानजीने कहा कि हे नाथ! मुझे तो कृपा करके आपकी अनपायिनी (जिसमें कभी विच्छेद नहीं पडे ऐसी, निश्चल) कल्याणकारी और सुखदायी भक्ति दो॥
  • छुप-छुप आये श्याम लेके ग्वाल बाल है
    छुप-छुप आये श्याम लेके ग्वाल बाल है।
    ऐसो री यशोदा ढीठ तेरो नन्दलाल है।
    ग्वाल बाल संग लेके, घर मेरे आ गये।
    माखन को खाय मेरी मटकी गिरा गये।
    अँगूठा दिखावे चाले टेढ़ी-टेढ़ी चाल है॥
    ऐसो री हटीलो मैया तेरो नन्दलाल है।
  • जय हो गणपती, जय हो गणपती
    Jai ho Ganpati, jai ho Ganpati
    Pooje tumhe devata sabhi
    Shiv ke dulaare, jag se nyaare
    Paarvati maan ke ankhiyo ke taare
  • सीताराम सीताराम सीताराम कहिये
    सीताराम सीताराम सीताराम कहिये,
    जाहि विधि राखे राम, ताहि विधि रहिये।
    मुख में हो राम नाम, राम सेवा हाथ में,
    तू अकेला नहिं प्यारे, राम तेरे साथ में।
  • माटी कहे कुम्हार से
    दुर्बल को ना सतायिये,
    जाकी मोटी हाय।
    बिना जीब के हाय से,
    लोहा भस्म हो जाए॥
  • मेरे तो गिरधर गोपाल - 2
    कोई कहे कारो, कोई कहे गोरो
    लियो है अँखियाँ खोल
    कोई कहे हलको, कोई कहे भारो
    लियो है तराजू तौल
_
_

Bhakti Geet Lyrics

_