Ram Bhajans – List – Hindi

श्री राम भजन – Hindi

_

Ram Bhajans


श्री राम आरती – श्रीरामचन्द्र कृपालु भजु मन – अर्थ सहित
श्रीरामचन्द्र कृपालु भजु मन
हरण भवभय दारुणम्।
नवकंज-लोचन कंज-मुख
कर-कंज पद-कंजारुणम्॥


श्री राम स्तुति – श्रीरामचन्द्र कृपालु भजु मन (Download)
कंदर्प अगणित अमित छबि,
नव नील नीरज सुन्दरम्।
पटपीत मानहुं तड़ित रूचि-शुची,
नौमि जनक सुतावरम्॥


भए प्रगट कृपाला, दीनदयाला
भए प्रगट कृपाला, दीनदयाला,
कौसल्या हितकारी।
हरषित महतारी, मुनि मन हारी,
अद्भुत रूप बिचारी॥


रघुपति राघव राजाराम (Download)
ईश्वर अल्लाह तेरो नाम,
सब को सन्मति दे भगवान
जय रघुनंदन जय सिया राम
जानकी वल्लभ सीताराम


सूरज की गर्मी से जलते हुए तन को
Lyrics + Download
युग युग से प्यासी मुरुभूमि ने
जैसे सावन का संदेस पाया
ऐसा ही सुख मेरे मन को मिला है,
मैं जब से शरण तेरी आया, मेरे राम


श्री राम चालीसा – श्री रघुवीर भक्त हितकारी
श्री रघुवीर भक्त हितकारी।
सुन लीजै प्रभु अरज हमारी॥
निशिदिन ध्यान धरै जो कोई।
ता सम भक्त और नहिं होई॥


दाता एक राम (Download)
दाता एक राम, भिखारी सारी दुनिया।
दाता एक राम
द्वारे पे उसके जाके, कोई भी पुकारता।
परम कृपा दे, अपनी भव से उभारता।
ऐसे दीनानाथ पे, बलिहारी सारी दुनिया॥
दाता एक राम, भिखारी सारी दुनिया।


तन के तम्बूरे में (Download)
तन के तम्बूरे में, दो सांसो की तार बोले।
जय सिया राम, राम, जय राधे श्याम, श्याम॥
अब तो इस मन के मंदिर में प्रभु का हुआ बसेरा।
मगन हुआ मन मेरा, छूटा जनम जनम का फेरा॥


राम नाम अति मीठा है
राम नाम अति मीठा है, कोई गा के देख ले।
आ जाते है राम, कोई बुला के देख ले॥
जिस घर में अंधकार, वहां मेहमान कहां से आए।
जिस मन में अभिमान, वहां भगवान कहा से आए॥


तेरा राम जी करेंगे बेडा पार
तेरा राम जी करेंगे बेडा पार, उदासी मन काहे को करे
नैय्या तेरी राम हवाले, लहर लहर हरी आप संभाले
हरी आप ही उठावे तेरा भार, उदासी मन काहे को करे
तेरा राम जी करेंगे बेडा पार, उदासी मन काहे को करे रे


जग में सुन्दर है दो नाम (Download)
माखन ब्रज में एक चुरावे,
एक बेर भीलनी के खावे
प्रेम भाव से भरे अनोखे,
दोनों के है काम


राम नाम के हीरे मोती – कृष्ण नाम के हीरे मोती
राम नाम के हीरे मोती, मैं बिखराऊँ गली गली
कृष्ण नाम के हीरे मोती, मैं बिखराऊँ गली गली
ले लो रे कोई राम का प्यारा, शोर मचाऊँ गली गली
ले लो रे कोई श्याम का प्यारा, शोर मचाऊँ गली गली


राम नाम के हीरे मोती – 1
राम नाम के हीरे मोती, मैं बिखराऊँ गली गली
ले लो रे कोई राम का प्यारा, शोर मचाऊँ गली गली
दोलत के दीवानों सुन लो, एक दिन ऐसा आएगा
धन योवन और रूप खजाना, यही धरा रह जाएगा


उठ नाम सिमर, मत सोए रहो
उठ नाम सिमर, मत सोए रहो,
मन अंत समय पछतायेगा।
जब चिडियों ने चुग खेत लिया,
फिर हाथ कुछ ना आयेगा॥
उठ नाम सिमर, मत सोए रहो


तेरे मन में राम (Download)
तेरे मन में राम, तन में राम,
रोम रोम में राम रे।
राम सुमीर ले, ध्यान लगाले,
छोड़ जगत के काम रे॥
बोलो राम, बोलो राम,
बोलो राम राम राम


जिसकी लागी रे लगन भगवान में
जिसकी लागी रे लगन भगवान में,
उसका दिया रे जलेगा तूफ़ान में
अनहोनी को होनी करदे
उसका नाम है राम रे


हम राम जी के रामजी हमारे हैं
हम राम जी के राम जी हमारे हैं
मेरे नयनो के तारे है
सारे जग के रखवाले है
हम रामजी के रामजी हमारे हैं


हमारे साथ श्री रघुनाथ तो किस बात की चिंता
हमारे साथ श्री रघुनाथ तो किस बात की चिंता
शरण में रख दिया जब माथ तो किस बात की चिंता
किया करते हो तुम दिन रात क्यों बिन बात की चिंता
तेरे स्वामी को रहती है, तेरे हर बात की चिंता


दुनिया चले ना श्रीराम के बिना
दुनिया चले ना श्री राम के बिना,
राम जी चले ना हनुमान के बिना
रावण मरे ना श्री राम के बिना,
लंका जले ना हनुमान के बिना


मुझे तूने मालिक बहुत कुछ दिया है
मुझे तूने मालिक बहुत कुछ दिया है,
तेरा शुक्रिया है, तेरा शुक्रिया है
ना मिलती अगर दी हुई दात तेरी,
तो क्या थी ज़माने में औकात मेरी


भरत भाई, कपि से उरिन हम नाहीं
भरत भाई, कपि से उरिन हम नाहीं।
सौ योजन, मर्याद समुद्र की
ये कूदी गयो छन माहीं।
लंका जारी, सिया सुधि लायो
पर गर्व नहीं मन माहीं॥


राम रमैया गाए जा (Download)
राम रमैया गाए जा, राम से लगन लगाए जा।
राम ही तारे राम उभारे, राम नाम दोहराए जा।
राम ही तारे राम उभारे, राम नाम दोहराए जा।

_
_

रामा रामा रटते रटते
रामा रामा रटते रटते
बीती रे उमरिया।
रघुकुल नंदन कब आओगे,
भिलनी की डगरिया॥


कभी राम बनके, कभी श्याम बनके
कभी राम बनके, कभी श्याम बनके,
चले आना, प्रभुजी चले आना,
तुम राम रूप में आना
सीता साथ लेके, धनुष हाथ लेके,
चले आना, प्रभुजी चले आना


ऐसें मेरे मन में विराजिये
ऐसें मेरे मन में विराजिये
की मै भूल जाऊं काम धाम
गाऊं बस तेरा नाम
सीता राम सीता राम


ऐसे हैं मेरे राम
ऐसे हैं मेरे राम, ऐसे हैं मेरे राम
विनय भरा ह्रदय करें सदा जिसे प्रणाम
ह्रदय कमल, नयन कमल
सुमुख कमल, चरण कमल
कमल के कुञ्ज, तेज कुञ्ज
छवि ललित ललाम
ऐसे हैं मेरे राम, ऐसे हैं मेरे राम


कभी कभी भगवान को भी
कभी कभी भगवान को भी
भक्तों से काम पड़े।
जाना था गंगा पार
जाना था गंगा पार,
प्रभु केवट की नाव चढ़े॥


क्षमा करो तुम मेरे प्रभुजी
क्षमा करो तुम मेरे प्रभुजी,
अब तक के सारे अपराध
धो डालो तन की चादर को,
लगे है उसमे जो भी दाग


जहाँ ले चलोगे, वहीं मैं चलूँगा
जहाँ ले चलोगे, वहीं मैं चलूँगा।
जहां नाथ रख लोगे, वहीं मैं रहूँगा॥
यह जीवन समर्पित, चरण में तुम्हारे।
तुम्ही मेरे सर्वस्व, तुम्ही प्राण प्यारे।


जिनके मन में बसे श्री राम जी
जिनके मन में बसे श्री राम जी
उनकी रक्षा करें हनुमान जी
जब भक्तों पर विपदा आई,
तब आये हनुमंत गोसाई
कृपा राम भक्तो पर करते,
उनकी पीड़ा को हर लेते
जय कपीष बलवान की


सीताराम सीताराम कहिये
सीताराम सीताराम सीताराम कहिये,
जाहि विधि राखे राम, ताहि विधि रहिये।


राम नाम सुखदाई, भजन करो भाई
राम नाम सुखदाई, भजन करो भाई
ये जीवन दो दिन का
ये तन है सपनो की माया
आँख खुले कुछ नाही, भजन करो भाई


तू राम भजन कर प्राणी
काया-माया बादल छाया,
मूरख मन काहे भरमाया।
उड़ जायेगा साँसका पंछी,
फिर क्या है आनी-जानी॥


श्री विष्णु चालीसा
नमो विष्णु भगवान खरारी।
कष्ट नशावन अखिल बिहारी॥
प्रबल जगत में शक्ति तुम्हारी।
त्रिभुवन फैल रही उजियारी॥


ठुमक चलत रामचंद्र
ठुमक चलत रामचंद्र बाजत पैंजनियां।
किलकि किलकि उठत धाय,
गिरत भूमि लटपटाय।


तेरे फूलों से भी प्यार
तेरे फूलों से भी प्यार, तेरे काँटों से भी प्यार
दाता किसी भी दिशा में ले चल जिंदगी की नाव।
चाहे ख़ुशी भरा संसार, चाहे आंसुओ की धार
दाता किसी भी दिशा में ले चल जिंदगी की नाव॥


दुःख सुख दोनो कुछ पल के
दुःख सुख दोनो कुछ पल के
कब आये कब जाये।
दुःख है ढलते सूरज जैसा
शाम ढले ढल जाये॥


ना मैं धन चाहूँ, ना रतन चाहूँ (Download)
ना मैं धन चाहूँ, ना रतन चाहूँ
तेरे चरणों की धूल मिल जाए
तो मैं तर जाऊँ, श्याम तर जाऊँ,
हे राम तर जाऊँ


पायो जी मैंने राम रतन धन पायो
वस्तु अमोलक दी मेरे सतगुरु
किरपा कर अपनायो
जनम जनम की पूंजी पाई
जग में सभी खोवायो


प्रभु जी, तुम चंदन हम पानी
प्रभु जी, तुम चंदन हम पानी
जाकी अंग-अंग बास समानी
प्रभु जी, तुम घन बन हम मोरा
जैसे चितवत चंद चकोरा
प्रभु जी, तुम चंदन हम पानी


प्रभु मोरे अवगुण
प्रभु मोरे अवगुण चित ना धरो।
समदरसी है नाम तिहारो, चाहे तो पार करो॥


प्रेम मुदित मन से कहो
प्रेम मुदित मन से कहो, राम राम राम
श्री राम राम राम, श्री राम राम राम..


बोले बोले हनुमान
बोले बोले हनुमान बोलो भक्तो सिया राम।
श्री राम के चरणों में बनते बिगड़े काम।
उसकी शोभा है विष्णु में,
उसकी शोभा है मोहन सी।
तुलसी ने जब शीश झुकाया,
धनुष बनी कान्हा की बंसी।


भजमन राम चरण सुखदाई
भज मन राम चरण सुखदाई, राम चरण सुखदाई
जिहि चरननसे निकसी सुरसरि शंकर जटा समाई।
जटासंकरी नाम परयो है, त्रिभुवन तारन आई॥


भजो रे मन, राम नाम
भजो रे मन, राम नाम सुखदाई।
राम नाम के दो अक्षर में.
सब सुख शान्ति समाई॥
भजो रे मन, राम नाम सुखदाई।


राम का सुमिरन किया करो
राम का सुमिरन किया करो,
प्रभु के सहारे जिया करो
जो दुनिया का मालिक है,
नाम उसी का लिया करो

_

Shree Ram Bhajans