Tu Hai Mohan Mera – Hindi

तू है मोहन मेरा, मैं दीवाना तेरा
मेरी बिगड़ी बनाना तेरा काम है
छोड़ दी अपनी कश्ती तेरे नाम पर
अब पार लगाना तेरा काम है

_

Tu Hai Mohan Mera


तू है मोहन मेरा, मैं दीवाना तेरा
मेरी बिगड़ी बनाना तेरा काम है

छोड़ दी अपनी कश्ती तेरे नाम पर
अब पार लगाना तेरा काम है

तू है मोहन मेरा, मैं दीवाना तेरा
तू है मोहन मेरा, मैं दीवाना तेरा


मैंने तुझको बिसारा गुनहगार हूँ
कैसे मुख को दिखाऊं, मै शर्मसार हूँ

जिस तरह से वो रीझे वही राह लूं
ऐसी राह पे चलाना तेरा काम है

तू है मोहन मेरा, मैं दीवाना तेरा
मेरी बिगड़ी बनाना तेरा काम है


छीन कर दिल को तूने क्या जादू किया
मेरा हाथों से दिल को बेकाबू किया

प्रेम विरह की अग्नि जले रात दिन
अब लगी को बुझाना तेरा काम है

तू है मोहन मेरा, मैं दीवाना तेरा
मेरी बिगड़ी बनाना तेरा काम है


तू मालिक है, मैं हूँ पुजारी तेरा
तू दाता है, मैं हूँ भिखारी तेरा

मस्त हरदम रहूँ मैं तेरी याद में
ऐसा जाम पिलाना तेरा काम है

तू है मोहन मेरा, मैं दीवाना तेरा
मेरी बिगड़ी बनाना तेरा काम है


है सबको पता, मैंने तुझको वरा
जान दे दूंगी तूने जुदा जो किया

होगी बदनामी तेरी, ये खुद जान लो
मेरी लाज बचाना तेरा काम है

तू है मोहन मेरा, मैं दीवाना तेरा
मेरी बिगड़ी बनाना तेरा काम है


हंस के तुम चल दिए, मैं रोती रही
ना मुड़ के सुधि, इस अभागिन की ली
अब आना ना आना, तेरा काम है

तू है मोहन मेरा, मैं दीवाना तेरा
मेरी बिगड़ी बनाना तेरा काम है


बड़ा दर्द है दिल में तेरे प्यार का
कैसे दर्शन हो प्यारे दिलदार का

तेरी बाँकी अदा ने हमें घायल किया
अब दवा को पिलाना तेरा काम है

तू है मोहन मेरा, मैं दीवाना तेरा
मेरी बिगड़ी बनाना तेरा काम है


तेरे चरणों में आकर झुकाया है सर
नहीं दुनियां में कोई तेरे जैसा दर
चरणों से लगाना तेरा काम है

तू है मोहन मेरा, मैं दीवाना तेरा
मेरी बिगड़ी बनाना तेरा काम है


छोड़ दी अपनी कश्ती तेरे नाम पर
अब पार लगाना तेरा काम है

तू है मोहन मेरा, मैं दीवाना तेरा
मेरी बिगड़ी बनाना तेरा काम है

तू है मोहन मेरा, मैं दीवाना तेरा
तू है मोहन मेरा, मैं दीवाना तेरा


For more bhajans from category, Click -

-
-

_

Krishna Bhajans

_

Bhajan List

Krishna Bhajans – Hindi
Ram Bhajans – Hindi
Bhajan, Aarti, Chalisa, Dohe – Hindi List

_
_

Krishna Bhajan Lyrics

_
_

Bhajans and Aarti

_
_

Bhakti Geet Lyrics

  • मेरी झोली छोटी पड़ गयी रे
    मेरी झोली छोटी पड़ गयी रे,
    इतना दिया मेरी माता
    उपकार करे, भव पार करे
    सपने सब के साकार करे
    ना देर करे, माँ मेहर करे
    भक्तो के सदा भंडार भरे
  • गंगा जी की आरती - गंगा आरती
    Om Jai Gange Mata,
    maiya Jai Gange Mata
    Jo nar tumako dhyaata,
    mann-vaanchhit phal paata.
  • सुंदरकाण्ड - 8
    जानउँ मैं तुम्हारि प्रभुताई।
    सहसबाहु सन परी लराई॥
    समर बालि सन करि जसु पावा।
    सुनि कपि बचन बिहसि बिहरावा॥
    हे रावण! आपकी प्रभुता तो मैंने तभीसे जान ली है कि जब आपको सहस्रबाहुके साथ युद्ध करनेका काम पड़ा था॥
  • सुंदरकाण्ड - 5
    तब देखी मुद्रिका मनोहर।
    राम नाम अंकित अति सुंदर॥
    चकित चितव मुदरी पहिचानी।
    हरष बिषाद हृदयँ अकुलानी॥
    फिर सीताजीने उस मुद्रिकाको देखा तो वह सुन्दर मुद्रिका रामचन्द्रजीके मनोहर नामसे अंकित हो रही थी अर्थात उसपर श्री राम का नाम खुदा हुआ था॥
  • समता – भगवद्‍ गीता|Bhagavad Gita Quotes

    समता – भगवद्‍गीता अध्याय – २ मात्रास्पर्शास्तु कौन्तेय शीतोष्णसुखदुःखदाः। आगमापायिनोऽनित्या: तांस्तितिक्षस्व भारत॥१४॥ सर्दी-गर्मी और सुख-दुःख को देने वाले इन्द्रिय और … Continue reading समता – भगवद्‍ गीता|Bhagavad Gita Quotes
_