Tere Charan Mere Mathura Kashi

Krishna Mantra Jaap (श्री कृष्ण मंत्र जाप)

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय हरे राम – हरे कृष्ण श्री कृष्ण शरणम ममः
हरे कृष्ण हरे कृष्ण – कृष्ण कृष्ण हरे हरे – हरे राम हरे राम – राम राम हरे हरे
Krishna Bhajan
_

तेरे चरण मेरे मथुरा काशी


तेरे चरण मेरे मथुरा काशी
बनवारी ब्रज के वासी
अँखियाँ दर्शन की मतवारी
मनमोहन मन के वासी

तेरे चरण मेरे मथुरा काशी
बनवारी ब्रज के वासी


तू घट घट मे है समाया
तेरी महिमा मैं क्या गाऊँ
सब मैने तुमसे पाया
तुमको अब क्या भेट चढ़ाऊँ

तू घट घट मे है समाया
तेरी महिमा मैं क्या गाऊँ
सब मैने तुमसे पाया
तुमको अब क्या मैं भेट चढ़ाऊँ

तू ही सबका रखवाला प्रभु
तू मन का ज्योत प्रकाशी
अँखिया दर्शन की मतवारी
मनमोहन मन के वासी

तेरी बंसी की धुन बाजी
सबकी सुध बुध खोने लागी
बंसी वट की छईयाँ में
तेरी मुरली हर पल गाती

तेरी बंसी की धुन बाजी
सबकी सुध बुध खोने लागी
बंसी वट की छईयाँ में
तेरी मुरली हर पल गाती

तेरा मोर मुकुट सांवली सूरत
अँखिया इस छवि की प्यासी

अँखिया दर्शन की मतवारी
मनमोहन मन के वासी

मेरा मन तेरा मंदिर है
भगवान इसमें तू ही समाया
मेरे रोम रोम अंतर में
तुने भक्ति का दीप जलाया

मेरा मन तेरा मंदिर है
भगवान इसमें तू ही समाया
मेरे रोम रोम अंतर में
तुने भक्ति का दीप जलाया

तेरी शरण मे हूँ, मोहे अपना ले
तेरे द्वार खड़ा अभिलाषी

अँखिया दर्शन की मतवारी
मनमोहन मन के वासी

तेरे चरण मेरे मथुरा काशी
बनवारी ब्रज के वासी
अँखियाँ दर्शन की मतवारी
मनमोहन मन के वासी

Tere Charan Mere Mathura Kashi
Tere Charan Mere Mathura Kashi

तेरे चरण मेरे मथुरा काशी
बनवारी ब्रज के वासी

_

Krishna Bhajans

_
_

Tere Charan Mere Mathura Kashi

Anup Jalota

_

Tere Charan Mere Mathura Kashi


Tere charan mere Mathura Kashi
Banwari Braj ke vaasi
Ankhiyaan darshan ki matavaari
Manamohan man ke vaasi

Tere charan mere Mathura Kashi
Banwari Braj ke vaasi

Tu ghat ghat me hai samaaya
Teri mahima mai kya gaoon
Sab maine tumse paaya
Tumako ab kya bhet chadhaoon

Tu ghat ghat me hai samaaya
Teri mahima main kya gaoon
Sab maine tumase paaya
Tumako ab kya main bhet chadhaoon

Tu hi sabaka rakhavaala prabhu
Tu man ka jyot prakaashi
Ankhiya darshan ki matavaari
Manamohan man ke vaasi

Teri bansi ki dhun baaji
Sabaki sudh budh khone laagi
Bansi vat ki chhiyaan mein
Teri murali har pal gaati

Teri bansi ki dhun baaji
Sabaki sudh budh khone laagi
Bansi vat ki chhiyaan mein
Teri murali har pal gaati

Tera mor mukut saawali surat
Ankhiya is chhavi ki pyaasi

Ankhiya darshan ki matavaari
Manamohan man ke vaasi

Mera man tera mandir hai
Bhagavaan isme tu hi samaaya
Mere rom rom antar mein
Tune bhakti ka dip jalaaya

Mera man tera mandir hai
Bhagavaan isme too hi samaaya
Mere rom rom antar mein
Tune bhakti ka dip jalaaya

Teri sharan me hoon mohe apana le
Tere dvaar khada abhilaashi

Ankhiya darshan ki matavaari
Manamohan man ke vaasi

Tere charan mere Mathura Kashi
Banwari Braj ke vaasi
Ankhiyaan darshan ki matavaari
Manamohan man ke vaasi

Tere Charan Mere Mathura Kashi
Tere Charan Mere Mathura Kashi

Tere charan mere Mathura Kashi
Banwari Braj ke vaasi

_

Krishna Bhajans

_