Na Ji Bhar Ke Dekha – Hindi

ना जी भर के देखा, ना कुछ बात की

ना जी भर के देखा, ना कुछ बात की
बड़ी आरजू थी, मुलाक़ात की।
करो दृष्टि अब तो प्रभु करुणा की
बड़ी आरजू थी, मुलाक़ात की॥

_

Na Ji Bhar Ke Dekha


ना जी भर के देखा, ना कुछ बात की
बड़ी आरजू थी, मुलाक़ात की।

करो दृष्टि अब तो प्रभु करुणा की
बड़ी आरजू थी, मुलाक़ात की॥


गए जब से मथुरा, वो मोहन मुरारी
सभी गोपिया बृज में व्याकुल थी भारी।

कहा दिन बिताया, कहाँ रात की
बड़ी आरजू थी, मुलाक़ात की॥

ना जी भर के देखा, ना कुछ बात की
बड़ी आरजू थी, मुलाक़ात की।


चले आओ.., चले आओ.., चले आओ..,
चले आओ, अब तो ओ प्यारे कन्हैया
ये सूनी है कुंजन और व्याकुल है गैया।

सूना दो अब तो इन्हें धुन मुरली की
बड़ी आरजू थी, मुलाक़ात की॥

ना जी भर के देखा, ना कुछ बात की
बड़ी आरजू थी, मुलाक़ात की।


हम बैठे हैं गम उनका दिल में ही पाले
भला ऐसे में खुद को कैसे संभाले।

ना उनकी सुनी, ना कुछ अपनी कही
बड़ी आरजू थी, मुलाक़ात की॥

ना जी भर के देखा, ना कुछ बात की
बड़ी आरजू थी, मुलाक़ात की।


तेरा मुस्कुराना भला कैसे भूलें
वो कदमन की छैया, वो सावन के झूले।

ना कोयल की कू कू, ना पपीहा की पी
बड़ी आरजू थी, मुलाक़ात की॥

ना जी भर के देखा, ना कुछ बात की
बड़ी आरजू थी, मुलाक़ात की।


तमन्ना यही थी की आएंगे मोहन
मैं चरणों में वारुंगी तन मन यह जीवन।

हाय मेरा यह कैसा बिगड़ा नसीब
बड़ी आरजू थी, मुलाक़ात की॥

ना जी भर के देखा, ना कुछ बात की
बड़ी आरजू थी, मुलाक़ात की।


Tags:

-
-

_

Krishna Bhajans

  • किस से नज़र मिलाऊँ तुम्हे देखने के बाद
    किस से नज़र मिलाऊँ तुम्हे देखने के बाद
    मेरा एक तू ही तू है दिलदार प्यारे कान्हा
    झोली कहा फैलाऊँ तुम्हे देखने के बाद
    किस से नज़र मिलाऊँ तुम्हे देखने के बाद
  • हरी बोल, हरी बोल, केशव माधव गोविन्द बोल
    हरी बोल, हरी बोल, हरी हरी बोल
    केशव माधव गोविन्द बोल॥
    नाम प्रभु का है सुखकारी,
    पाप काटेंगे क्षण में भारी।
  • गोविन्द जय-जय गोपाल जय-जय
    गोविन्द जय-जय गोपाल जय-जय।
    राधा-रमण हरि, गोविन्द जय-जय॥
    राधाकी जय-जय, रुक्मनिकी जय-जय।
    मोर-मुकुट बन्सीवाले की जय-जय॥
    ब्रह्माकी जय-जय, विष्णूकी जय-जय।
    उमा- पति शिव शंकरकी जय-जय॥
  • तु गोकुल का रखवाला है
    तु गोकुल का रखवाला है,
    कोई क्या जाने नन्दलाला है॥
    कोई क्या जाने नन्दलाला है॥
  • तेरा जनम मरण मिट जाए
    तेरा जनम मरण मिट जाए
    तू हरी का नाम सुमर प्यारे
    बालापन में मन खेलन में, सुख दुःख नहीं था रे
    जोबन रसिया कामन बसिया, तन मन धन हारे
    तू हरी का नाम सुमर प्यारे
  • मैं आरती तेरी गाउँ, ओ केशव कुञ्ज बिहारी
    मैं आरती तेरी गाउँ, ओ केशव कुञ्ज बिहारी।
    मैं नित नित शीश नवाऊँ, ओ मोहन कृष्ण मुरारी॥
    जो आए शरण तिहारी, विपदा मिट जाए सारी।
    हम सब पर कृपा रखना, ओ जगत के पालनहारी॥
  • आजा कलयुग में ले के अवतार, ओ गोविन्द
    आजा कलयुग में ले के अवतार, ओ गोविन्द
    अपने भक्तो की सुनले पुकार, ओ गोविन्द
    यमुना का पानी तोसे करता सवाल है
    तेरे बिना देख ज़रा कैसा बुरा हाल है
    आजा कलयुग में ले के अवतार, ओ गोविन्द
  • हरी नाम का प्याला
    हरी नाम का प्याला प्याला
    हरे कृष्ण की हाला।
    ऐसी हाला पी पीकर के
    चला चले मतवाला॥
  • कृष्ण जिनका नाम है गोकुल जिनका धाम है
    कृष्ण जिनका नाम है
    गोकुल जिनका धाम है
    ऎसे श्री भगवान को
    बारंबार प्रणाम है
_

Bhajan List

Krishna Bhajans – Hindi
Ram Bhajans – Hindi
Bhajan, Aarti, Chalisa, Dohe – Hindi List

_
_

Hare Krishna Bhajan Lyrics

  • नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा
    नटवर नागर नंदा,
    भजो रे मन गोविंदा।
    सब देवोँ में देव बड़े हैं
    श्याम बिहारी नंदा
  • जगत के रंग क्या देखूं, तेरा दीदार काफी है - 2
    जगत के रंग क्या देखूं,
    तेरा दीदार काफी है।
    क्यों भटकूँ गैरों के दर पे,
    तेरा दरबार काफी है॥
    चले आओ मेरे मोहन,
    दरस की प्यास काफी है॥
  • प्रभु हम पे कृपा करना
    प्रभु हम पे कृपा करना,
    प्रभु हम पे दया करना
    बैकुंठ तो यही है,
    हृदय में रहा करना
  • ऐ श्याम तेरी मुरली
    ऐ श्याम तेरी मुरली, पागल कर जाती है
    मुस्कान तेरी मीठी, घायल कर जाती है
    ये सोने की होती, ना जाने क्या होता
    ये बांस की हो कर के, इतना इतराती है
  • जनम तेरा बातों ही बीत गयो
    जनम तेरा बातों ही बीत गयो,
    रे तुने कबहू ना कृष्ण कह्यो
    पाँच बरस को भोला भाला,
    अब तो बीस भयो।
    मकर पचीसी माया कारण,
    देश विदेश गयो।
    पर तुने कबहू ना कृष्ण कह्यो
_
_

Bhajans and Aarti

  • इतनी शक्ति हमें देना दाता
    इतनी शक्ति हमें देना दाता
    मन का विश्वास कमजोर हो ना।
    हम चले नेक रस्ते पे हमसे
    भूलकर भी कोई भूल हो ना॥
  • Daily Morning Mantras
    Morning Mantra प्रात: कर-दर्शन सुबह नींद से जागने के बाद सबसे पहले अपनी हथेलियोंको देखकर यह मंत्र बोलना चाहिये। कराग्रे … Continue reading Daily Morning Mantra – Hindi
  • सुंदरकाण्ड - 9
    पूँछहीन बानर तहँ जाइहि।
    तब सठ निज नाथहि लइ आइहि॥
    जिन्ह कै कीन्हिसि बहुत बड़ाई।
    देखउ मैं तिन्ह कै प्रभुताई॥
    जब यह वानर पूंछहीन होकर अपने मालिकके पास जायेगा, तब अपने स्वामीको यह ले आएगा॥
  • जय हो जय हो तुम्हारी जी बजरंगबली
    जय हो जय हो तुम्हारी जी बजरंगबली
    ले के शिव रूप आना गज़ब हो गया।
    त्रेता युग में थे, तुम आये द्वापर में भी
    तेरा कलयुग में आना गज़ब हो गया॥
  • ठुमक चलत रामचंद्र बाजत पैंजनियां
    ठुमक चलत रामचंद्र बाजत पैंजनियां।
    किलकि किलकि उठत धाय, गिरत भूमि लटपटाय
    धाय मात गोद लेत, दशरथ की रनियां
    ठुमक चलत रामचंद्र बाजत पैंजनियां
  • सूरज की गर्मी से जलते हुए तन को
    सूरज की गर्मी से जलते हुए तन को
    मिल जाये तरुवर की छाया।
    ऐसा ही सुख मेरे मन को मिला है,
    मैं जब से शरण तेरी आया, मेरे राम॥
  • श्री गणेश आरती - सुखकर्ता दुखहर्ता - जय देव, जय मंगलमूर्ती
    सुखकर्ता दुखहर्ता वार्ता विघ्नाची।
    नुरवी पुरवी प्रेम कृपा जयाची॥
    जय देव, जय देव, जय मंगलमूर्ती
    दर्शनमात्रे मन कामनापु्र्ती
    जय देव, जय देव
  • माँ सरस्वती आरती - जय जय सरस्वती माता
    जय सरस्वती माता,
    जय जय सरस्वती माता।
    सद्दग़ुण वैभव शालिनि,
    त्रिभुवन विख्याता॥
    जय जय सरस्वती माता
  • जल्दी जल्दी वृन्दावन आते रहना
    Video - गौरव कृष्ण गोस्वामी (Gaurav Krishna Goswami)
  • राधे राधे, राधे राधे, गाते रहना
    जल्दी जल्दी वृन्दावन आते रहना
    आते रहना गाते रहना,
    जल्दी जल्दी वृन्दावन आते रहना
    वृन्दावन आके तेरे भाग खुल जायेंगे

_
_

Bhakti Geet Lyrics

  • हनुमान आरती - आरती कीजै हनुमान लला की
    आरती कीजै हनुमान लला की।
    दुष्टदलन रघुनाथ कला की॥
    जाके बल से गिरिवर काँपै।
    रोग-दोष जाके निकट न झाँपै॥
  • साई की नगरिया जाना है रे बंदे
    साई की नगरिया जाना है रे बंदे
    जाना है रे बंदे
    जग नाही अपना, जग नाही अपना,
    बेगाना है रे बंदे
    जाना है रे बंदे, जाना है रे बंदे
  • शिव मानस पूजा
    रत्नैः कल्पितमासनं हिमजलैः
    स्नानं च दिव्याम्बरं
    नानारत्न विभूषितं मृगमदा
    मोदाङ्कितं चन्दनम्।
  • मीरा के भजन
    मीरा के भजन - प्रार्थना
    पायो जी मैंने राम रतन धन पायो
    श्याम मने चाकर राखो जी
    मेरे तो गिरधर गोपाल
    ऐसी लागी लगन
_