Mujhe Charno Se Laga Le – Hindi

मुझे चरणों से लगा ले, मेरे श्याम मुरली वाले

मुझे चरणों से लगा ले, मेरे श्याम मुरली वाले।
मेरी सांस सांस में तेरा, है नाम मुरली वाले
भक्तो की तुमने कान्हा, विपदा है टारी।
मेरी भी बाह थामो, आ के बिहारी
बिगड़े बनाए तुमने, हर काम मुरली वाले

_

Mujhe Charno Se Laga Le Mere Shyam Murli Wale


मुझे चरणों से लगा ले, मेरे श्याम मुरली वाले।
मेरी सांस सांस में तेरा, है नाम मुरली वाले

मुझे चरणों से लगा ले, मेरे श्याम मुरली वाले।


भक्तो की तुमने कान्हा, विपदा है टारी।
मेरी भी बाह थामो, आ के बिहारी
बिगड़े बनाए तुमने, हर काम मुरली वाले

मुझे चरणों से लगा ले, मेरे श्याम मुरली वाले।
मेरी सांस सांस में तेरा, है नाम मुरली वाले॥


पतझड़ है मेरा जीवन, बन के बहार आजा।
सुन ले पुकार कान्हा, बस एक बार आजा।
बैचैन मन के तुम ही, आराम मुरली वाले॥

मुझे चरणों से लगा ले, मेरे श्याम मुरली वाले।
मेरी सांस सांस में तेरा, है नाम मुरली वाले॥


तुम हो दया के सागर, जनमों की मैं हूँ प्यासी।
दे दो जगह मुझे भी, चरणों में बस ज़रा सी।
सुबह तुम ही हो, तुम ही, मेरी शाम मुरली वाले

मुझे चरणों से लगा ले, मेरे श्याम मुरली वाले।
मेरी सांस सांस में तेरा, है नाम मुरली वाले॥


मुझे चरणों से लगा ले, मेरे श्याम मुरली वाले।
मेरी सांस सांस में तेरा, है नाम मुरली वाले॥

मुझे चरणों से लगा ले, मेरे श्याम मुरली वाले


For more bhajans from category, Click -

-
-

_

Hare Krishna Bhajans

  • छुप-छुप आये श्याम लेके ग्वाल बाल है
    छुप-छुप आये श्याम लेके ग्वाल बाल है।
    ऐसो री यशोदा ढीठ तेरो नन्दलाल है।
    ग्वाल बाल संग लेके, घर मेरे आ गये।
    माखन को खाय मेरी मटकी गिरा गये।
    अँगूठा दिखावे चाले टेढ़ी-टेढ़ी चाल है॥
    ऐसो री हटीलो मैया तेरो नन्दलाल है।
  • प्रभु हम पे कृपा करना
    प्रभु हम पे कृपा करना,
    प्रभु हम पे दया करना
    बैकुंठ तो यही है,
    हृदय में रहा करना
  • मेरा आपकी कृपा से, सब काम हो रहा है
    मेरा आपकी कृपा से, सब काम हो रहा है।
    करते हो तुम कन्हैया, मेरा नाम हो रहा है॥
    हैरान है ज़माना, मंजिल भी मिल रही है।
    करता नहीं मैं कुछ भी, सब काम हो रहा है॥
  • देना हो तो दीजिए, जनम जनम का साथ
    देना हो तो दीजिए, जनम जनम का साथ।
    मेरे सर पर रख गिरधारी, अपने दोनों ये हाथ॥
    देने वाले श्याम प्रभु से, धन और दौलत क्या मांगे।
    श्याम प्रभु से मांगे तो फिर, नाम और इज्ज़त क्या मांगे।
    मेरे जीवन में अब कर दे, तू कृपा की बरसात॥
  • दर्शन दो घनश्याम नाथ
    दर्शन दो घनश्याम नाथ,
    मोरी अंखियाँ प्यासी रे
    मन मंदिर की ज्योत जगा दो,
    घट घट वासी रे
    मंदिर मंदिर मूरत तेरी,
    फिर भी न दिखे सूरत तेरी
  • दिलबर की अदा निराली है
    दिलबर की अदा निराली है
    दिल छीन लिया उसने मेरा
    प्यारे की सूरत प्यारी है
    दिन रात तड़पता रहता हु
    घनश्याम तुम्हारी यादो में
    हे सर्वेश्वर, हे कृष्णा प्रिय
    आकर के बाह पकड़ मेरी
    माया ने मुझको घेरा है
  • कान्हा रे थोडा सा प्यार दे
    कान्हा रे थोडा सा प्यार दे,
    चरणों में बैठा के तार दे
    ओ गोरी, घूंघट उतर दे,
    प्रेम की भिक्षा झोली में डार (डाल) दे
  • माखन चोर, नन्द किशोर, मन मोहन, घनश्याम रे
    माखन चोर, नन्द किशोर,
    मन मोहन, घनश्याम रे
    कितने तेरे रूप रे,
    कितने तेरे नाम रे
_

श्रद्धा सुमन

यह जीवन हमारा तुम्हारे लिए हो।
हमें अपने चरणों के काबिल बना दो॥

मैं पथ में गिरुं तो मुझे थाम लेना।
दया करके सद्बुद्धि देते ही रहना।
जो सच्चा पथ हो वही तुम दिखा दो।
हमें अपने चरणों के काबिल बना दो॥


मुझे चरणों से लगा ले, मेरे श्याम मुरली वाले।
मेरी सांस सांस में तेरा, है नाम मुरली वाले॥

_

Bhajan List

Krishna Bhajans – Hindi
Ram Bhajans – Hindi
Bhajan, Aarti, Chalisa, Dohe – Hindi List

_

भक्ति का रंग

यह जीवन हमारा तुम्हारे लिए हो।
हमें अपने चरणों के काबिल बना दो॥

दर्शन को मै आया हूँ जन्मों का मारा।
भटकता मन यह अब भी हमारा।
इसे वश में करने की युक्ति बता दो।
हमें अपने चरणों के काबिल बना दो॥

मुझे चरणों से लगा ले, मेरे श्याम मुरली वाले
मेरी सांस सांस में तेरा, है नाम मुरली वाले॥

_
_

Shri Krishna Bhajan Lyrics

_
_

Bhajans and Aarti

  • कुमार विशु भजन
    List - कुमार विशु भजन | Kumar Vishu Bhajan List

  • मिलता है सच्चा सुख
    मिलता है सच्चा सुख केवल,
    शिवजी तुम्हारे चरणों में।
    यह बिनती है पलछिन छिनकी,
    रहे ध्यान तुम्हारे चरणों में॥
  • शिव प्रातः स्मरण स्तोत्र - प्रातः स्मरामि भवभीतिहरं सुरेशं
    प्रातः स्मरामि भवभीतिहरं सुरेशं
    गङ्गाधरं वृषभवाहनमम्बिकेशम्।
    खट्वाङ्गशूल वरदाभयहस्तमीशं
    संसाररोगहरमौषधमद्वितीयम्॥
  • भजन - आरती - दोहे
    Bhajan List Hindi - भजन, आरती
    दोहे - हिंदी अर्थसहित, चालीसा, स्तोत्र
    कृष्ण भजन, राम भजन
    शिव भजन, माँ दुर्गा भजन
    गणेश भजन, हनुमान भजन
    कबीर के भजन, कबीर के दोहे
  • कभी कभी भगवान को भी
    कभी कभी भगवान को भी
    भक्तों से काम पड़े।
    जाना था गंगा पार,
    प्रभु केवट की नाव चढ़े
  • मेरे तो गिरधर गोपाल - 2
    कोई कहे कारो, कोई कहे गोरो
    लियो है अँखियाँ खोल
    कोई कहे हलको, कोई कहे भारो
    लियो है तराजू तौल
  • सुंदरकाण्ड - 12
    नाथ भगति अति सुखदायनी।
    देहु कृपा करि अनपायनी॥
    सुनि प्रभु परम सरल कपि बानी।
    एवमस्तु तब कहेउ भवानी॥
    रामचन्द्रजीके ये वचन सुनकर हनुमानजीने कहा कि हे नाथ! मुझे तो कृपा करके आपकी अनपायिनी (जिसमें कभी विच्छेद नहीं पडे ऐसी, निश्चल) कल्याणकारी और सुखदायी भक्ति दो॥
  • श्री गजानन महाराज (शेगांव) आरती
    जय जय सतचित स्वरूपा स्वामी गणराया।
    अवतरलासी भूवर जड मुढ ताराया॥
    निर्गुण ब्रह्म सनातन अव्यय अविनाशी।
    स्थिरचर व्यापून उरलें जे या जगताशी॥
  • तुम बसी हो कण कण अन्दर माँ
    तुम बसी हो कण कण अन्दर माँ
    हम ढूंढते रह गये मंदिर में
    तेरी माया को न जान सके
    तुझको न कभी पहचान सके
    हम मोह की निद्रा सोये रहे
    माँ इधर उधर ही खोये रहे
  • दुनिया मे देव हजारो हैं, बजरंग बली का क्या कहना
    दुनिया मे देव हजारो हैं,
    बजरंग बली का क्या कहना॥
    इनकी शक्ति का क्या कहना,
    इनकी भक्ति का क्या कहना।
_
_

Bhakti Geet Lyrics

  • नवदुर्गा - माँ दुर्गा का चौथा रूप - माँ कूष्माण्डा
    माँ दुर्गाजीके चौथे स्वरूपका नाम कूष्माण्डा है।
    माँ कूष्माण्डा सृष्टिकी आदि-स्वरूपा और आदि शक्ति हैं।
    नवरात्र-पूजनके चौथे दिन कूष्माण्डा देवीके स्वरूपकी ही उपासना की जाती है।
    देवी की उपासनासे भक्तोंके समस्त रोग-शोक नष्ट हो जाते हैं।
  • म्हारे घर आ प्रीतम प्यारा
    म्हारे घर आ प्रीतम प्यारा म्हारे घर आ प्रीतम प्यारा॥ तन मन धन सब भेंट धरूंगी भजन करूंगी तुम्हारा। म्हारे … Continue reading म्हारे घर आ प्रीतम प्यारा | Meerabai ke Bhajan
  • गणेश 108 नाम
    ॐ विनायकाय नमः
    ॐ विघ्न-राजाय नमः
    ॐ गौरी-पुत्राय नमः
    ॐ गणेश्वराय नमः
  • सुंदरकाण्ड - 7
    ब्रह्मबान कपि कहुँ तेहिं मारा।
    परतिहुँ बार कटकु संघारा॥
    तेहिं देखा कपि मुरुछित भयऊ।
    नागपास बाँधेसि लै गयऊ॥
    मेघनादने हनुमानजीपर ब्रम्हास्त्र चलाया, उस ब्रम्हास्त्रसे हनुमानजी गिरने लगे तो गिरते समय भी उन्होंने अपने शरीरसे बहुतसे राक्षसोंका संहार कर डाला॥
  • शिवजी के १०८ नाम - अर्थ सहित
    शिव - कल्याण स्वरूप
    शंकर - सबका कल्याण करने वाले
    शम्भू - आनंद स्वरूप वाले
    महादेव - देवों के भी देव
    मृत्युंजय - मृत्यु को जीतने वाले
_