Kanha Re Thoda Sa Pyaar De – Hindi

कान्हा रे थोडा सा प्यार दे

कान्हा रे थोडा सा प्यार दे,
चरणों में बैठा के तार दे
ओ गोरी, घूंघट उतर दे,
प्रेम की भिक्षा झोली में डार (डाल) दे

_

कान्हा रे थोडा सा प्यार दे


कान्हा रे थोडा सा प्यार दे,
चरणों में बैठा के तार दे
ओ गोरी, घूंघट उतर दे,
प्रेम की भिक्षा झोली में डार (डाल) दे

कान्हा रे थोडा सा प्यार दे,
चरणों में बैठा के तार दे


प्रेम गली में आके गुजरिया,
भूल गई रे घर की डगरिया
जब तक साधन, तन मन जीवन
सब तुझे अर्पण, प्यारे सांवरिया

माया का तुमने रंग ऐसा डाला,
बंधन में बंध गया बांधने वाला
कौन रमा पति, कैसा ईश्वर,
मै तो हु गोकुल का ग्वाला

ग्वाला रे थोडा सा प्यार दे
ग्वालिन का जीवन संवार दे


आत्मा परमात्मा के मिलन का मधुमास है
यही महारास है, यही महारास है

त्रिभुवन का स्वामी, भक्तो का दास है
यही महारास है, यही महारास है

कृष्ण कमल है, राधे सुवास है
यही महारास है, यही महारास है

इसके अवलोकन की, युग युग को प्यास है
यही महारास है, यही महारास है


कान्हा रे थोडा सा प्यार दे,
चरणों में बैठा के तार दे


तू झूठा, वचन तेरे झूठे
मुस्का के भोली राधा को लुटे

मै भी हूँ सच्चा, वचन मेरे सच्चे
प्रीत मेरी पक्की, तुम्हारे मन कच्चे

जैसे तू रख्खे वैसे रहूंगी
दूंगी परीक्षा, पीर सहूंगी

स्वर्गों के सुख भी, मीठे ना लागे
तू मिल जाये तो मोक्ष नही मांगे

कान्हा रे थोडा सा प्यार दे,
चरणों में बैठा के तार दे


सृष्टि के कण कण में इसका आभास है
यही महारास है, यही महारास है

तारों में नर्तन, फुलों में उल्हास है
यही महारास है, यही महारास है

मुरली की प्रतिध्वनि दिशाओं के पास है
यही महारास है, यही महारास है

आध्यात्म की चेतना का सबमे विकास है
यही महारास है, यही महारास है


कान्हा रे थोडा सा प्यार दे,
चरणों में बैठा के तार दे

ओ गोरी, घूंघट उतर दे,
प्रेम की भिक्षा झोली में डाल दे

कान्हा रे थोडा सा प्यार दे,
चरणों में बैठा के तार दे


Tags:

-
-

_

Krishna Bhajans

_

Bhajan List

Krishna Bhajans – Hindi
Ram Bhajans – Hindi
Bhajan, Aarti, Chalisa, Dohe – Hindi List

_
_

Krishna Bhajan Lyrics

_
_

Bhajans and Aarti

  • मेरे लाडले गणेश प्यारे प्यारे
    मेरे लाडले गणेश प्यारे प्यारे
    भोले बाबा जी की आँखों के तारे
    प्रभु सभा बीच में आ जाना, आ जाना
    मेरे लाडले गणेश प्यारे प्यारे
  • ब्रह्मचारिणी स्तुति - जय माँ ब्रह्मचारिणी
    जय माँ ब्रह्मचारिणी,
    ब्रह्मा को दिया ग्यान।
    नवरात्री के दुसरे दिन
    सारे करते ध्यान॥
  • इस योग्य हम कहाँ हैं
    इस योग्य हम कहाँ हैं, भगवन तुम्हें मनायें।
    फिर भी मना रहे हैं, शायद तू मान जाये॥
    जबसे जन्म लिया है, विषयोंने हमको घेरा।
    छल और कपटने डाला, इस भोले मन पे डेरा।
    जब तेरा ध्यान लगायें, माया पुकारती है।
    सुख भोगनेकी इच्छा, कभी तृप्त हो न पाये॥
    इस योग्य हम कहाँ हैं, भगवन तुम्हें मनायें।
  • चलो शिव शंकर के मंदिर में भक्तो
    चलो शिव शंकर के मंदिर में भक्तो शिव जी के चरणों में सर को झुकाए। करें अपने तन मन को गंगा सा पावन जपें नाम शिव का भजन इनके गाएं॥
  • श्री राम चालीसा - श्री रघुवीर भक्त हितकारी
    श्री रघुवीर भक्त हितकारी।
    सुन लीजै प्रभु अरज हमारी॥
    निशिदिन ध्यान धरै जो कोई।
    ता सम भक्त और नहिं होई॥
  • देवी आरतियाँ - List
    माँ दुर्गा आरती - जय अम्बे गौरी
    सन्तोषी माता आरती - जय सन्तोषी माता
    लक्ष्मी जी की आरती - जय लक्ष्मी माता
    माँ काली की आरती - मंगल की सेवा
  • सुंदरकाण्ड - 5
    तब देखी मुद्रिका मनोहर।
    राम नाम अंकित अति सुंदर॥
    चकित चितव मुदरी पहिचानी।
    हरष बिषाद हृदयँ अकुलानी॥
    फिर सीताजीने उस मुद्रिकाको देखा तो वह सुन्दर मुद्रिका रामचन्द्रजीके मनोहर नामसे अंकित हो रही थी अर्थात उसपर श्री राम का नाम खुदा हुआ था॥
  • गणेश आरती - List
    जय गणेश, जय गणेश देवा
    सुखकर्ता दुखहर्ता वार्ता विघ्नाची
    जय देव, जय देव, जय मंगलमूर्ती
    गणपति की सेवा मंगल मेवा
  • मच गया शोर सारी नगरी रे - Janmashtami Song
    मच गया शोर सारी नगरी रे, सारी नगरी रे
    आया बिरज का बांका,
    संभाल तेरी गगरी रे
    हो.. आया बिरज का बांका,
    संभाल तेरी गगरी रे
  • नवदुर्गा - माँ दुर्गा का छठवां रूप - कात्यायनी देवी
    माँ दुर्गा का छठवां स्वरूप - माँ कात्यायनी
    नवरात्रि का छठा दिन माँ कात्यायनी की उपासना का दिन होता है।
    इनके पूजन से अद्भुत शक्ति का संचार होता है।
    दुश्मनों का संहार करने में देवी सक्षम बनाती हैं।
_
_

Bhakti Geet Lyrics

_