Jagat Ke Rang Kya Dekhu – Hindi

जगत के रंग क्या देखूँ, तेरा दीदार काफी है

जगत के रंग क्या देखूँ,
तेरा दीदार काफी है।
करूँ मैं प्यार किस किस से,
तेरा एक प्यार काफी है॥

_

श्री कृष्ण भजन – जगत के रंग क्या देखूँ


For Khatu Shyam Bhajan – Jagat Ke Rang Kya Dekhu by Jaya Kishori Ji, please visit – जगत के रंग क्या देखूँ – Jaya Kishori

जगत के रंग क्या देखूँ,
तेरा दीदार काफी है।
करूँ मैं प्यार किस किस से,
तेरा एक प्यार काफी है॥


नही चाहिए ये दुनिया के,
निराले रंग ढंग मुझको।
चली जाऊँ मैं वृन्दावन,
तेरा दरबार काफी है॥

जगत के रंग क्या देखूँ,
तेरा दीदार काफी है।
करूँ मैं प्यार किस किस से,
तेरा एक प्यार काफी है॥


जगत के साज बाजो से,
हुए है कान अब बहरे।
कहाँ जा के सुनूँ अनहद,
तेरी झंकार काफी है॥

जगत के रंग क्या देखूँ,
तेरा दीदार काफी है।
करूं मैं प्यार किस किस से,
तेरा एक प्यार काफी है॥


जगत के रिश्तेदारों ने,
बिछाया जाल माया का।
तेरे भक्तो से हो प्रीती,
तेरा परिवार काफी है॥

जगत के रंग क्या देखूँ,
तेरा दीदार काफी है।
करूं मैं प्यार किस किस से,
तेरा एक प्यार काफी है॥


जगत की झूठी रौशनी से,
हैं आँखे भर गई मेरी।
मेरी आँखों में हों हरदम,
तेरा चमकार काफी है॥

जगत के रंग क्या देखूँ,
तेरा दीदार काफी है।
करूँ मैं प्यार किस किस से,
तेरा एक प्यार काफी है॥


जगत के रंग क्या देखूँ,
तेरा दीदार काफी है।
करूँ मैं प्यार किस किस से,
तेरा एक प्यार काफी है॥


Tags:

-
-

_

Krishna Bhajans

  • छुप-छुप आये श्याम लेके ग्वाल बाल है
    छुप-छुप आये श्याम लेके ग्वाल बाल है।
    ऐसो री यशोदा ढीठ तेरो नन्दलाल है।
    ग्वाल बाल संग लेके, घर मेरे आ गये।
    माखन को खाय मेरी मटकी गिरा गये।
    अँगूठा दिखावे चाले टेढ़ी-टेढ़ी चाल है॥
    ऐसो री हटीलो मैया तेरो नन्दलाल है।
  • हरी नाम का प्याला
    हरी नाम का प्याला प्याला
    हरे कृष्ण की हाला।
    ऐसी हाला पी पीकर के
    चला चले मतवाला॥
  • है कण कण में झांकी भगवान की
    है कण कण में झांकी भगवान् की।
    किसी सूझ वाली आँख ने पहचान की॥
    निगाह मीरा की निराली, पीली जहर की प्याली,
    ऐसा गिरधर बसाया हर श्वास में।
  • श्री राधे गोविंदा, मन भज ले - 2
    श्री राधे गोविंदा, मन भज ले
    हरी का प्यारा नाम है
    गोपाला हरी का प्यारा नाम है,
    नंदलाला हरी का प्यारा नाम है
  • अगर श्याम सुन्दर का सहारा ना होता
    अगर श्याम सुन्दर का सहारा ना होता,
    तो दुनिया में कोई हमारा ना होता।
    जबसे मिली है दया हमको इनकी,
    तो राहें बदल दी मेरी ज़िन्दगी की।
    नज़रे करम का इशारा ना होता,
    तो दुनिया में कोई हमारा ना होता॥
  • जब नाम जपोगे कृष्णा
    जब नाम जपोगे कृष्णा,
    तो मिटेगी मन की तृष्णा
    बोलो कृष्णा कृष्णा, बोलो कृष्णा
    राधे कृष्णा कृष्णा, बोलो कृष्णा
  • सांवरिया ले चल परली पार
    सांवरिया ले चल परली पार
    कन्हैया ले चल परली पार
    सांवरिया ले चल परली पार
    जहा विराजे राधा रानी,
    अलबेली सरकार
  • किस से नज़र मिलाऊँ तुम्हे देखने के बाद
    किस से नज़र मिलाऊँ तुम्हे देखने के बाद
    मेरा एक तू ही तू है दिलदार प्यारे कान्हा
    झोली कहा फैलाऊँ तुम्हे देखने के बाद
    किस से नज़र मिलाऊँ तुम्हे देखने के बाद
  • श्री राधे गोविंदा, मन भज ले हरी का प्यारा नाम है
    श्री राधे गोविंदा, मन भज ले
    हरी का प्यारा नाम है
    गोपाला हरी का प्यारा नाम है,
    नंदलाला हरी का प्यारा नाम है
    जय नंदलाला, जय गोपाला
_

Bhajan List

Krishna Bhajans – Hindi
Ram Bhajans – Hindi
Bhajan, Aarti, Chalisa, Dohe – Hindi List

_
_

Lyrics of Lord Krishna Bhajans

_
_

Bhajans and Aarti

  • कान्हा आन पड़ी मैं तेरे द्वार
    कान्हा आन पड़ी मैं तेरे द्वार
    मोहे चाकर समझ निहार॥
    कान्हा कान्हा आन पड़ी मैं तेरे द्वार
    तू जिसे चाहे, ऐसी नहीं मैं,
    हां तेरी राधा जैसी नहीं मैं।
  • मेरे तो गिरधर गोपाल
    जाके सिर मोर मुकुट, मेरो पति सोई।
    तात मात भ्रात बंधु, आपनो न कोई॥
    कोई कहे कारो, कोई कहे गोरो
    लियो है अँखियाँ खोल
  • सुंदरकाण्ड - 12
    नाथ भगति अति सुखदायनी।
    देहु कृपा करि अनपायनी॥
    सुनि प्रभु परम सरल कपि बानी।
    एवमस्तु तब कहेउ भवानी॥
    रामचन्द्रजीके ये वचन सुनकर हनुमानजीने कहा कि हे नाथ! मुझे तो कृपा करके आपकी अनपायिनी (जिसमें कभी विच्छेद नहीं पडे ऐसी, निश्चल) कल्याणकारी और सुखदायी भक्ति दो॥
  • कर प्रणाम तेरे चरणों में
    कर प्रणाम तेरे चरणों में,
    करता हूँ अब तेरे काज।
    पालन करने को आज्ञा तेरी,
    नियुक्त होता हूँ मैं आज॥
  • सत्यम शिवम सुन्दरम
    इश्वर सत्य है, सत्य ही शिव है, शिव ही सुन्दर है
    जागो उठ कर देखो, जीवन ज्योत उजागर है
    सत्यम शिवम सुन्दरम, सत्यम शिवम् सुन्दरम
  • भवानी अष्टकम
    न तातो न माता न बन्धुर्न दाता
    न पुत्रो न पुत्री न भृत्यो न भर्ता।
    न जाया न विद्या न वृत्तिर्ममैव
    गतिस्त्वं गतिस्त्वं त्वमेका भवानि॥१॥
  • श्याम मने चाकर राखो जी - मीरा भजन - अर्थसहित
    श्याम मने चाकर राखो जी,
    चाकर रहसूं बाग लगासूं,
    नित उठ दरसण पासूं।
    वृन्दावन की कुंजगलिन में
    तेरी लीला गासूं॥
  • संत कबीर के दोहे - 3
    [kdh] <<< (संत कबीर के दोहे – भाग 2) <<< (Sant Kabir ke Dohe – Page 2) संत कबीर के … Continue reading Sant Kabir ke Dohe – 3 – Hindi
  • संगति - कबीर के दोहे
    कबीर संगत साधु की, नित प्रति कीजै जाय।
    कबीर संगत साधु की, जौ की भूसी खाय।
    संगत कीजै साधु की, कभी न निष्फल होय।
    संगति सों सुख्या ऊपजे, कुसंगति सो दुख होय।
  • जय हो गणपती, जय हो गणपती
    जय हो गणपती, जय हो गणपती
    पूजे तुम्हे देवता सभी
    शिव के दुलारे, जग से न्यारे
    पार्वती माँ के अंखियो के तारे
_
_

Bhakti Geet Lyrics

_