Holi Khel Rahe Nandlal Vrindavan – 2 – Hindi

होली खेल रहे नंदलाल,
वृंदावन कुंज गलिन में।
नंदगांव के छैल बिहारी,
बरसाने की राधा प्यारी।

_

Holi Khel Rahe Nandlal Vrindavan Ki Kunj Galin Me – 2 – Lyrics in Hindi


होली खेल रहे नंदलाल,
वृंदावन कुंज गलिन में
वृंदावन कुंज गलिन में,
वृंदावन कुंज गलिन में॥


नंदगांव के छैल बिहारी,
बरसाने की राधा प्यारी।
हिलमिल खेले गोपी ग्वाल,
वृंदावन कुंज गलिन में॥

होली खेल रहे नंदलाल,
वृंदावन कुंज गलिन में।


ढप-ढोल मंजीरा बाजे,
कान्हा मुख मुरली साजे,
ए री सब नाचत, दे दे ताल,
वृंदावन कुंज गलिन में॥

होली खेल रहे नंदलाल,
वृंदावन कुंज गलिन में।


याने भर पिचकारी मारी,
रंग में रंग डारी सारी,
ए री मेरे मुख पर मलो गुलाल,
वृंदावन कुंज गलिन में॥

होली खेल रहे नंदलाल,
वृंदावन कुंज गलिन में।


For more bhajans from category, Click -

-
-

_

Krishna Bhakti Geet

_

Bhajan List

Krishna Bhajans
Ram Bhajan
Bhajan, Aarti, Chalisa, Dohe – List

_
_

Krishna Bhajan Lyrics

_
_

Bhajans and Aarti

  • आएगा जब रे बुलावा हरी का
    Video - अनूप जलोटा (Anup Jalota)
  • आएगा जब रे बुलावा हरी का,
    छोड़ के सब कुछ जाना पड़ेगा
    नाम हरी का साथ जायेगा
    और तू कुछ न ले पायेगा
    आएगा जब रे बुलावा हरी का
    छोड़ के सब कुछ जाना पड़ेगा

  • भज ले प्राणी रे अज्ञानी
    Video - प्रेमभूषणजी महाराज (Prembhushan Maharaj)
  • भज ले प्राणी रे अज्ञानी, दो दिन की जिंदगानी।
    रे कहाँ तू भटक रहा है, यहाँ क्यों भटक रहा है

  • क्षमा करो तुम मेरे प्रभुजी
    क्षमा करो तुम मेरे प्रभुजी,
    अब तक के सारे अपराध
    धो डालो तन की चादर को,
    लगे है उसमे जो भी दाग
    नारायण अब शरण तुम्हारे,
    तुमसे प्रीत होये निज राग
  • बस हो गया भजन
    मन की तरंग मार लो, बस हो गया भजन
    आदत बुरी सुधार लो, बस हो गया भजन

    आये हो तुम कहा से, जाओगे तुम कहाँ
    इतना तो दिल विचार लो, बस हो गया भजन

    कोई तुम्हे बुरा कहे, तुम सुनकर करो क्षमा
    वाणी का स्वर सुधार लो, बस हो गया भजन
    मन की तरंग मार लो, बस हो गया भजन
  • हे ज्ञान रूप भगवन, हमको भी ज्ञान दे दो - प्रार्थना
    हे ज्ञान रूप भगवन,
    (हे ज्ञानवान भगवन)
    हमको भी ज्ञान दे दो।
    करूणा के चार छींटे,
    करूणा निधान दे दो॥
_
_

Bhakti Song Lyrics

होली खेल रहे नंदलाल, वृंदावन कुंज गलिन में – 2

होली खेल रहे नंदलाल,
वृंदावन कुंज गलिन में।
नंदगांव के छैल बिहारी,
बरसाने की राधा प्यारी।

_