Aisi Lagi Lagan Meera Ho Gayi Magan – Hindi

ऐसी लागी लगन, मीरा हो गयी मगन

ऐसी लागी लगन, मीरा हो गयी मगन।
वो तो गली गली, हरी गुण गाने लगी॥
महलों में पली, बन के जोगन चली।
मीरा रानी दीवानी कहाने लगी॥

_

Meera Bhajan – Aisi Lagi Lagan – Lyrics


है आँख वो जो, श्याम का दर्शन किया करे।
है शीश जो, प्रभु चरण में वंदन किया करे।

बेकार वो मुख है, जो रहे व्यर्थ बातों में।
मुख है वो जो, हरी नाम का सुमिरन किया करे॥


हीरे मोती से नहीं शोभा है हाथ की।
है हाथ जो भगवान् का पूजन किया करे॥

मर के भी अमर नाम है उस जीव का जग में।
प्रभु प्रेम में बलिदान जो जीवन किया करे॥


ऐसी लागी लगन, मीरा हो गयी मगन।
ऐसी लागी लगन, मीरा हो गयी मगन।
वो तो गली गली, हरी गुण गाने लगी॥

ऐसी लागी लगन, मीरा हो गयी मगन।
ऐसी लागी लगन, मीरा हो गयी मगन।
वो तो गली गली हरी गुण गाने लगी॥

महलों में पली, बन के जोगन चली।
महलों में पली, बन के जोगन चली।
मीरा रानी दीवानी कहाने लगी॥

ऐसी लागी लगन, मीरा हो गयी मगन
वो तो गली गली गली गली,
हरी गुण गाने लगी॥
ऐसी लागी लगन


कोई रोके नहीं, कोई टोके नहीं,
मीरा गोविन्द गोपाल गाने लगी।
कोई रोके नहीं, कोई टोके नहीं,
मीरा गोविन्द गोपाल गाने लगी।

बैठी संतो के संग, रंगी मोहन के रंग,
मीरा प्रेमी प्रीतम को मनाने लगी।
वो तो गली गली हरी गुण गाने लगी॥

ऐसी लागी लगन, मीरा हो गयी मगन।
वो तो गली गली हरी गुण गाने लगी॥

महलों में पली, बन के जोगन चली।
मीरा रानी दीवानी कहाने लगी॥
ऐसी लागी लगन


राणा ने विष दिया, मानो अमृत पिया,
मीरा सागर में सरिता समाने लगी।
राणा ने विष दिया, मानो अमृत पिया,
मीरा सागर में सरिता समाने लगी।

दुःख लाखों सहे, मुख से गोविन्द कहे,
मीरा गोविन्द गोपाल गाने लगी।
वो तो गली गली हरी गुण गाने लगी॥

ऐसी लागी लगन, मीरा हो गयी मगन।
वो तो गली गली हरी गुण गाने लगी॥
महलों में पली, बन के जोगन चली।
मीरा रानी दीवानी कहाने लगी॥


ऐसी लागी लगन, मीरा हो गयी मगन।
ऐसी लागी लगन, मीरा हो गयी मगन।


Tags:

-
-

_

Krishna Bhakti Geet

  • श्री राधे गोविंदा, मन भज ले हरी का प्यारा नाम है
    श्री राधे गोविंदा, मन भज ले
    हरी का प्यारा नाम है
    गोपाला हरी का प्यारा नाम है,
    नंदलाला हरी का प्यारा नाम है
    जय नंदलाला, जय गोपाला
  • जगत के रंग क्या देखूं, तेरा दीदार काफी है - 2
    जगत के रंग क्या देखूं,
    तेरा दीदार काफी है।
    क्यों भटकूँ गैरों के दर पे,
    तेरा दरबार काफी है॥
    चले आओ मेरे मोहन,
    दरस की प्यास काफी है॥
  • जैसे वीराने में कोई बस्ती
    जैसे वीराने में कोई बस्ती
    सूनी महफ़िल में आ जाये मस्ती
    जैसे पतझड़ में फूल खिल गया
    मेरा सांवरा मुझे मिल गया
  • प्रभु हम पे कृपा करना
    प्रभु हम पे कृपा करना,
    प्रभु हम पे दया करना
    बैकुंठ तो यही है,
    हृदय में रहा करना
  • जब नाम जपोगे कृष्णा
    जब नाम जपोगे कृष्णा,
    तो मिटेगी मन की तृष्णा
    बोलो कृष्णा कृष्णा, बोलो कृष्णा
    राधे कृष्णा कृष्णा, बोलो कृष्णा
  • आओ कन्हैया, आओ मुरारी
    आओ कन्हैया, आओ मुरारी,
    तेरे दर पे आया सुदामा भिखारी॥
    क्या मैं बताऊँ, क्या मैं सुनाऊँ,
    एक दुःख नहीं जो मन में छिपाऊँ।
    घट-घट की जानत हो, तुम हे मुरारी,
    तेरे दरपे आया सुदामा भिखारी॥
  • प्रीत मोहन से की, इस भरोसे पे की
    प्रीत मोहन से की, इस भरोसे पे की
    चार दिन जिंदगी के, गुजर जायेंगे
    क्या भरोसा था, ये वक़्त भी आएगा
    वादा करके वो, हमसे मुकर जायेंगे
  • तेरे पूजन को भगवान
    तेरे पूजन को भगवान,
    बना मन मंदिर आलीशान।
    किस ने जानी तेरी माया,
    किस ने भेद तिहारा पाया।
    ऋषि मुनि हारे कर कर ध्यान,
    बना मन मंदिर आलीशान॥
  • पाप की मटकी तूने फोड़ी
    पाप की मटकी तूने फोड़ी,
    पुण्य की मटकी मै ले आऊँ।
    जिस मटकी में भक्ति का माखन,
    वोही मटकी मै चाहूँ॥
_

Bhajan List

Krishna Bhajans – Hindi
Ram Bhajans – Hindi
Bhajan, Aarti, Chalisa, Dohe – Hindi List

_
_

Krishna Bhajan Lyrics

  • देना हो तो दीजिए, जनम जनम का साथ
    देना हो तो दीजिए, जनम जनम का साथ।
    मेरे सर पर रख गिरधारी, अपने दोनों ये हाथ॥
    देने वाले श्याम प्रभु से, धन और दौलत क्या मांगे।
    श्याम प्रभु से मांगे तो फिर, नाम और इज्ज़त क्या मांगे।
    मेरे जीवन में अब कर दे, तू कृपा की बरसात॥
  • जहाँ ले चलोगे, वहीं मैं चलूँगा
    जहाँ ले चलोगे, वहीं मैं चलूँगा।
    जहां नाथ रख लोगे, वहीं मैं रहूँगा॥
    यह जीवन समर्पित, चरण में तुम्हारे।
    तुम्ही मेरे सर्वस्व, तुम्ही प्राण प्यारे।
  • श्याम तेरे ही भरोसे, मेरा परिवार है
    श्याम तेरे ही भरोसे,
    मेरा परिवार है।
    तू ही मेरी नाव का मांझी,
    तू ही पतवार है॥
  • दिल की हर धड़कन से, तेरा नाम निकलता है
    दिल की हर धड़कन से तेरा नाम निकलता है
    तेरे दर्शन को मोहन तेरा दास तरसता है
    जन्मो पे जनम लेकर मै हार गया मोहन
    दर्शन बिन व्यर्थ हुआ हर बार मेरा जीवन
    अब धैर्य नहीं मुझमे इतना तू परखता है
    दिल की हर धड़कन से तेरा नाम निकलता है
_
_

Bhajans and Aarti

  • जय जय नारायण नारायण, हरि हरि
    जय जय नारायण नारायण, हरि हरि
    स्वामी नारायण नारायण, हरि हरि
    प्रभु के नाम का पारस जो छूले, वो हो जाए सोना
    दो अक्षर का शब्द हरि है, लकिन बड़ा सलोना
    तेरी लीला सब से न्यारी न्यारी, हरि हरि
    तेरी महिमा प्रभु है प्यारी प्यारी, हरि हरि
  • माता वैष्णो के आए नवरात्रे
    मालिने बनादे एक सेहरा नी,
    माता वैष्णो के आए नवरात्रे।
    फूल श्रद्धा के होएंगे जब अर्पण,
    शुद्ध होएगा रे मनवा का दर्पण।
  • गणपति आज पधारो, श्री रामजी की धुन में
    गणपति आज पधारो,
    श्री रामजी की धुन में
    मोदक भोग लगाओ,
    श्री रामजी की धुन में
  • ओम जय जगदीश हरे
    ओम जय जगदीश हरे,
    स्वामी जय जगदीश हरे।
    भक्त जनों के संकट,
    क्षण में दूर करे॥
    ओम जय जगदीश हरे
  • कर प्रणाम तेरे चरणों में
    कर प्रणाम तेरे चरणों में,
    करता हूँ अब तेरे काज।
    पालन करने को आज्ञा तेरी,
    नियुक्त होता हूँ मैं आज॥
  • माँ मुरादे पूरी करदे हलवा बाटूंगी
    माँ मुरादे पूरी करदे हलवा बाटूंगी
    ज्योत जगा के, सर को झुका के
    मैं मनाऊंगी, दर पे आउंगी,
    संतो महंतो को बुला के
    घर में कराऊं जगराता
    सुनती है सब की फ़रियादे,
    मेरी भी सुन लेगी माता
  • साई की नगरिया जाना है रे बंदे
    साई की नगरिया जाना है रे बंदे
    जाना है रे बंदे
    जग नाही अपना, जग नाही अपना,
    बेगाना है रे बंदे
    जाना है रे बंदे, जाना है रे बंदे
  • शिरडीवाले साईंबाबा, आया है तेरे दर पे सवाली
    तारीफ़ तेरी निकली है दिल से
    आई है लब पे बनके कव्वाली
    शिरडीवाले साईंबाबा,
    आया है तेरे दर पे सवाली
  • श्री गणेश चालीसा
    जय जय जय गणपति गणराजू।
    मंगल भरण करण शुभ काजू॥
    जय गजबदन सदन सुखदाता।
    विश्व-विनायक बुद्घि विधाता॥
  • भजो रे मन, राम नाम सुखदाई
    भजो रे मन, राम नाम सुखदाई। राम नाम के दो अक्षर में..
    राम को नाम लेत मुख से, भवसागर तर जाई।
    राम नाम भज ले मन मूर्‌ख, बनत बनत बन जाई॥
_
_

Lyrics of Bhakti Geet

  • Sai Baba Aarti - Dhoop Aarti - Evening Aarti - Hindi
    Sai Baba Aarti (Saibaba Dhoop Aarti) Shree Sachidananda Sadguru Sainath Maharaj Ki jai Aarti Sai Baba, saukhyadatara jiva, charanarajaatali Dhyavaa … Continue reading Sai Baba Aarti – Dhoop Aarti – Evening Aarti – Hindi
  • Bhajans from Hindi Films - Hindi
    ऐ मालिक तेरे बंदे हम
    तुने मुझे बुलाया, शेरावालिये
    जय जय नारायण नारायण, हरि हरि
    ना मैं धन चाहूँ, ना रतन चाहूँ
  • शक्ति दे माँ, शक्ति दे माँ
    तेरे द्वारे जो भी आया,
    उसने जो माँगा वो पाया
    मैं भी तेरा सवाली,
    शक्तिशाली शेरों वाली, माँ जगदम्बे
  • संगति - कबीर के दोहे
    कबीर संगत साधु की, नित प्रति कीजै जाय।
    कबीर संगत साधु की, जौ की भूसी खाय।
    संगत कीजै साधु की, कभी न निष्फल होय।
    संगति सों सुख्या ऊपजे, कुसंगति सो दुख होय।
  • सुंदरकाण्ड - 12
    नाथ भगति अति सुखदायनी।
    देहु कृपा करि अनपायनी॥
    सुनि प्रभु परम सरल कपि बानी।
    एवमस्तु तब कहेउ भवानी॥
    रामचन्द्रजीके ये वचन सुनकर हनुमानजीने कहा कि हे नाथ! मुझे तो कृपा करके आपकी अनपायिनी (जिसमें कभी विच्छेद नहीं पडे ऐसी, निश्चल) कल्याणकारी और सुखदायी भक्ति दो॥
_