Mukunda Mukunda Krishna – Krishna Bhkati Song – Hindi

मुकुंदा मुकुंदा, कृष्णा मुकुंदा मुकुंदा
मुझे दान में दे वृंदा, विरिन्दा विरिन्दा।
मटकी से माखन फिर से चुरा,
गोपियों का विरह तू आके मिटा॥

Film: Dashavatar (Sadhana Sargam)


Mukunda mukunda – Full Bhakti Song

_

Mukunda Mukunda Krishna, Mukunda Mukunda – Lyrics in Hindi


मुकुंदा मुकुंदा, कृष्णा मुकुंदा मुकुंदा
मुझे दान में दे वृंदा, विरिन्दा विरिन्दा।

मुकुंदा मुकुंदा, कृष्णा मुकुंदा मुकुंदा
मुझे दान में दे वृंदा, विरिन्दा विरिन्दा

मटकी से माखन फिर से चुरा,
गोपियों का विरह तू आके मिटा॥

मुकुंदा मुकुंदा, कृष्णा मुकुंदा मुकुंदा
मुझे दान में दे वृंदा, विरिन्दा विरिन्दा।


मैं कठपुतली डोर तेरे साथ,
कुछ भी नही है अब मेरे हाथ।

मुकुंदा मुकुंदा कृष्णा, मुकुंदा मुकुंदा
मुझे दान में दे वृंदा, विरिन्दा विरिन्दा।


जय जय राम, जय जय राम,
जय जय राम, जय जय राम।
सीता राम, जय जय राम,
जय जय राम, जय जय राम॥


हे नंदलाला, हे कृष्णा स्वामी,
तुम तो हो ज्ञानी ध्यानी, अंतर्यामी

महिमा तुम्हारी जो भी समझ ना पाए,
ख़ाक में मिल जाए वो खलकामी॥

ऐसा विज्ञान जो की तुझ को ना माने,
तेरी श्रद्धालुओं की शक्ति ना जाने।

जो पाठ पढाया था तुमने गीता का अर्जुन को
वो आज भी सच्ची राह दिखाए मेरे जीवन को।

मेरी आत्मा को अब ना सता,
जल्दी से आके मोहे दरस दिखा

मुकुंदा मुकुंदा, कृष्णा मुकुंदा मुकुंदा
मुझे दान में दे वृंदा, विरिन्दा विरिन्दा।


नैया मंझधार में भी तुने बचाया,
गीता का ज्ञान दे के जग को जगाया।

छू लिया ज़मीन से ही, आसमा का तारा,
नरसिंघा का रूप धर के हिरन्य को मारा।

रावण के सर को काटा राम रूप ले के,
राधे का मन चुराया प्रेम रंग दे के।

मेरे नयनों में फूल खिले सब तेरी खुशबू के,
मैं जीवन साथी चुन लूं तेरे पैरों को छू के।

किसके माथे सजाऊं मोर पंख तेरा,
कई सदियों जन्मों से तू है मेरा॥

मुकुंदा मुकुंदा, कृष्णा मुकुंदा मुकुंदा
मुझे दान में दे वृंदा, विरिन्दा विरिन्दा।


मोरा गोविंदा, लाला मोरा
तन का सांवरा, जी का गोरा।
उसकी कही ना कोई खबर
आता कहीं ना वो तो नज़र।

आजा आजा झलक दिखा जा
देर ना कर आ आजा।
गोविंदा गोपाला।

मुकुंदा मुकुंदा, कृष्णा मुकुंदा मुकुंदा
मुझे दान में दे वृंदा, विरिन्दा विरिन्दा।


मुकुंदा मुकुंदा, कृष्णा मुकुंदा मुकुंदा
मुझे दान में दे वृंदा, विरिन्दा विरिन्दा


For more bhajans from category, Click -

-
-

_

Krishna Bhajans

_

Bhajan List

Krishna Bhajans – Hindi
Ram Bhajans – Hindi
Bhajan, Aarti, Chalisa, Dohe – Hindi List

_
_

Krishna Bhajan Lyrics

_
_

Bhajans and Aarti

_
_

Bhakti Geet Lyrics

  • नवदुर्गा - माँ दुर्गा के नौ रुप
    नवरात्रि में दुर्गा पूजा के अवसर पर माँ के नौ रूपों की पूजा-उपासना की जाती है। इन नव दुर्गा को पापों के विनाशिनी कहा जाता है।
    शैलपुत्री (Shailaputri)
    व्रह्मचारणी (Brahmacharini)
    चन्द्रघन्टा (Candraghanta)
    कूष्माण्डा (Kusamanda)
    स्कन्दमाता (Skandamata)
  • गुरु महिमा - कबीर के दोहे
    - गुरु गोविंद दोऊँ खड़े, काके लागूं पांय।
    - गुरु आज्ञा मानै नहीं, चलै अटपटी चाल।
    - गुरु बिन ज्ञान न उपजै, गुरु बिन मिलै न मोष।
    - सतगुरू की महिमा अनंत, अनंत किया उपकार।
  • सुंदरकाण्ड - Sunderkand in Hindi - Index
    हनुमानजी का सीता शोध के लिए लंका प्रस्थान
    सिताजीने हनुमानको आशीर्वाद दिया
    हनुमानजी ने श्रीराम को सीताजी का सन्देश दिया
    भगवान् श्री राम की महिमा
    समुद्र की श्री राम से विनती
  • कालीमाता की आरती - मंगल की सेवा
    मंगल की सेवा सुन मेरी देवा,
    हाथ जोड तेरे द्वार खडे।
    पान सुपारी ध्वजा नारियल
    ले ज्वाला तेरी भेट धरे॥
  • सूरज की गर्मी से जलते हुए तन को
    सूरज की गर्मी से जलते हुए तन को
    मिल जाये तरुवर की छाया।
    ऐसा ही सुख मेरे मन को मिला है,
    मैं जब से शरण तेरी आया, मेरे राम॥

मुकुंदा मुकुंदा, कृष्णा मुकुंदा मुकुंदा

मुकुंदा मुकुंदा, कृष्णा मुकुंदा मुकुंदा
मुझे दान में दे वृंदा, विरिन्दा विरिन्दा।
मटकी से माखन फिर से चुरा,
गोपियों का विरह तू आके मिटा॥

मुकुंदा मुकुंदा, कृष्णा मुकुंदा मुकुंदा
मुझे दान में दे वृंदा, विरिन्दा विरिन्दा

_