Tere Mandiro Mein Amrit Barse Maa

Durga Mantra Jaap (माँ दुर्गा मंत्र जाप)

जय माता दी  जय माता दी जय माता दी  जय माता दी
 जयकारा शेरावाली का – बोल सांचे दरबार की जय

_

तेरे मंदिरों मे अमृत बरसे माँ


तेरे मंदिरों में अमृत बरसे माँ,
तेरे मंदिरों में अमृत बरसे माँ

तेरे भक्तों के मन की प्यास बुझी,
अब रूह किसी की ना तरसे माँ

तेरे मंदिरों मे अमृत बरसे माँ,
तेरे मंदिरों मे अमृत बरसे माँ


भक्ति के सागर में
भक्तो ने आज लगाये गोते
इस अमृत में भीग के कागा,
हंस है छिन में होते

वो लोग बड़े ही बदकिस्मत,
जो आज ना निकले घर से माँ

तेरे मंदिरों में अमृत बरसे माँ,
तेरे मंदिरों में अमृत बरसे माँ


नाम के रस की इस धारा में
आत्मा जब है बहती

जग की नश्वर चीजों की
फिर तलब उसे ना रहती

कहीं और यह मस्ती मिलती नहीं,
जो मिलती है तेरे दर से माँ

तेरे मंदिरों में अमृत बरसे माँ,
तेरे मंदिरों में अमृत बरसे माँ


इन छीटों से जन्म जन्म की
मैल सभी धुल जाती

मिट जाता अन्धकार दिलों का,
आँखे है खुल जातीं

शैतान भी साधू बनते सुने,
तेरे नाम की मस्त लहर से माँ

तेरे मंदिरों में अमृत बरसे माँ,
तेरे मंदिरों में अमृत बरसे माँ


तेरे मंदिरों में अमृत बरसे माँ,
तेरे मंदिरो में अमृत बरसे माँ

तेरे भक्तों के मन की प्यास बुझी,
अब रूह किसी की ना तरसे माँ

तेरे मंदिरों में अमृत बरसे माँ,
तेरे मंदिरों में अमृत बरसे माँ

_

Durga Bhajan List

_
_

Tere Mandiro Mein Amrit Barse Maa

_

Tere Mandiro Mein Amrit Barse Maa

Tere mandiro mein amrit barse Maa,
Tere mandiro mein amrit barse Maa

Tere bhakton ke mann ki pyaas bujhi,
ab rooh kisi ki na tarse, Maa

Tere mandiro mein amrit barse Maa,
Tere mandiro mein amrit barse Maa


Bhakti ke saagar me
bhakto ne aaj lagaaye gote

Is amrt me bheeg ke kaaga,
hans hai chhin me hote

Wo log bade hi badkismat,
jo aaj na nikale ghar se, Maa

Tere mandiro mein amrit barse Maa,
Tere mandiro mein amrit barse Maa


Naam ke ras ki is dhaara me
aatma jab hai bahti

Jag ki nashvar chijon ki
phir talab usey na rahti

Kahin aur yah masti milti nahi,
jo milti hai tere dar se, Maa

Tere mandiro me amrit barse Maa,
Tere mandiro me amrit barse Maa


In chhiton se janm janm ki
mail sabhi dhul jaati

Mit jaata andhakaar dilon ka,
aakhe hai khul jaati

Shaitaan bhi saadhu bante sune,
tere naam ki mast lahar se Maa

Tere mandiron mein amrit barse Maa,
Tere mandiron mein amrit barse Maa


Tere mandiron me amrit barse Maa,
Tere mandiron me amrit barse Maa

Tere bhakton ke mann ki pyaas bujhi,
ab rooh kisi ki na tarse, Maa

Tere mandiro mein amrit barse Maa,
Tere mandiro mein amrit barse Maa

_